--Advertisement--

मिशन 2019 के लिए संसदीय क्षेत्रों में सर्वे कराएगी भाजपा

2014 में लोकसभा चुनाव कांगड़ा संसदीय सीट से शांता कुमार, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर, मंडी से राम स्वरूप शर्मा आैर शिमला...

Danik Bhaskar | May 10, 2018, 02:05 AM IST
2014 में लोकसभा चुनाव कांगड़ा संसदीय सीट से शांता कुमार, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर, मंडी से राम स्वरूप शर्मा आैर शिमला संसदीय सीट से वीरेंद्र कश्यप ने चुनाव जीते थे। इस बार पार्टी इनमें से किन किन पर दोबारा विश्वास जताती है, इस पर फैसला लेने के लिए पार्टी ने कसरत शुरू कर दी है, हालांकि पार्टी के प्रत्याशियों के नाम फाइनल होने के लिए लंबा इंतजार करना होगा।

अध्यक्ष उपाध्यक्षों की तैनाती पर भी चर्चा

भाजपा सरकार में अभी तक अध्यक्ष आैर उपाध्यक्षों की तैनाती होनी है, बीआेडी में सदस्यों का मनोनयन किया जाना है। इस पर संगठन आैर सभी फ्रंटल संगठनों की सहमति से काम किया जाना है। राज्य में कैसे सरकार आैर संगठन के बीच में समवन्य बेहतर बनाया जा सकता है। इस पर भी विस्तार से रणनीति तैयार की गई।

मीिटंग|समन्वय समिति आैर कोर कमेटी की बैठक में बनी सहमति



भास्कर न्यूज | शिमला

2019 में भाजपा की चारों सीटें सुनिश्चित करने का जिम्मा पार्टी विधायकों को सौंपेगी। हर विधायक को अपने हलके से पार्टी के प्रत्याशी को लीड दिलाने का टारगेट दिया जाएगा। पार्टी का प्रत्याशी तय करने से पहले पार्टी सर्वें करवाने की तैयारी में है। दिल्ली के आए नेताआें ने बैठक में हिमाचल भाजपा के नेताआें को साफ निर्देश दिए कि वह केंद्र सरकार की योजनाआें को आम जनता तक पहुंचाएं। राज्य भाजपा के पदाधिकारियों को फील्ड में लोगों के बीच जाकर केंद्र की नीतियों से अवगत करवाना होगा। राज्य में भाजपा 44 विधायक है, कांग्रेस के 21 विधायक है। सूत्र बताते हैं कि भाजपा की कोर कमेटी की बैठक में पार्टी के राज्य में चलने वाले सभी कार्यक्रमों में आम लोगों की भागाीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए। भाजपा अगले चुनावों में पार्टी के प्रत्याशियों को जीत दिलाने के लिए दिग्गज नेताआें को भी मैदान में उतारने पर फैसला ले सकती है। पार्टी को 2014 में हिमाचल में चारों सीटों पर जीत मिली थी, राज्य में महज चार सीटें होने के कारण राष्ट्रीय स्तर पर इसका कोई ज्यादा असर राजनीति में नहीं रहता है, इसके बावजूद भाजपा हिमाचल में भी पूरी तरह से गंभीर है। सूत्र बताते हैं कि पार्टी की आेर से चुनाव में किसे उतारा जाना है, इस पर शीघ्र ही फैसला हो सकता है। इसके लिए पार्टी की आेर से संसदीय क्षेत्र में सर्वे के साथ ही अपने पदाधिकारियों से भी रिपोर्ट ली जानी है। इसके बाद ही पार्टी अपने अधिकृत प्रत्याशियों को तय करेगी। बैठक में पार्टी के राज्य अध्यक्ष सतपाल सत्ती, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, राज्य सरकार के मंत्री, लोकसभा सांसद सहित पार्टी के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।

शांता, अनुराग, राम स्वरूप आैर कश्यप ने जीते थे चुनाव