शिमला

  • Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • कोर्ट ने पूछा- किन परिस्थितियों में स्टोन क्रशर के आवेदन को पहली बार में संशोधित किया
--Advertisement--

कोर्ट ने पूछा- किन परिस्थितियों में स्टोन क्रशर के आवेदन को पहली बार में संशोधित किया

हाईकोर्ट ने जुन्गा की कोटी रेंज में हुए 416 पेड़ों के कटान मामले में उद्योग विभाग के निदेशक को प्रतिवादी बनाते हुए...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 02:05 AM IST
हाईकोर्ट ने जुन्गा की कोटी रेंज में हुए 416 पेड़ों के कटान मामले में उद्योग विभाग के निदेशक को प्रतिवादी बनाते हुए निजी शपथपत्र दायर करने के आदेश दिए। कोर्ट ने यह बताने को कहा कि किन परिस्थितियों में भूप राम के स्टोन क्रशर के आवेदन को पहली ही बार में संसाधित (प्रोसेस्ड) कर दिया गया। भूप राम ने 14 जुलाई 2014 को स्टोन क्रशर के लिए आवेदन किया था। इसी वर्ष 12 जनवरी को कोटी रेंज में बड़े पैमाने पर वन कटान का मामला सामने आया था। यह मामला तब उजागर हुआ जब इस बीट का फाॅरेस्ट गार्ड रिटायर हुआ और नए गार्ड पवन ने बीट संभाली।
प्रधान सचिव बताएं, अफसरों के खिलाफ क्या कार्रवाई की

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश अजय मोहन गोयल की बेंच ने वन विभाग के प्रधान सचिव से कहा कि मामले में प्राथमिकी से पहले की घटी घटनाओं का ब्यौरा दें जिनके आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई। मामले में रेंज अफसर अनु ठाकुर की शिकायत पर पुलिस ने जुन्गा के शलोट गांव के भूप राम के खिलाफ फॉरेस्ट एक्ट के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू की गई है। जांच में सामने आया था कि वन विभाग के यू-260 जंगल में पेड़ों का कटान पिछले 4 सालों से गुपचुप तरीके से हो रहा था। लेकिन विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगी। कोर्ट ने प्रधान सचिव वन को यह बताने के आदेश भी दिए कि मामले में लिप्त दोषी वन अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई अमल में लाई गई है।

भास्कर न्यूज| शिमला

हाईकोर्ट ने जुन्गा की कोटी रेंज में हुए 416 पेड़ों के कटान मामले में उद्योग विभाग के निदेशक को प्रतिवादी बनाते हुए निजी शपथपत्र दायर करने के आदेश दिए। कोर्ट ने यह बताने को कहा कि किन परिस्थितियों में भूप राम के स्टोन क्रशर के आवेदन को पहली ही बार में संसाधित (प्रोसेस्ड) कर दिया गया। भूप राम ने 14 जुलाई 2014 को स्टोन क्रशर के लिए आवेदन किया था। इसी वर्ष 12 जनवरी को कोटी रेंज में बड़े पैमाने पर वन कटान का मामला सामने आया था। यह मामला तब उजागर हुआ जब इस बीट का फाॅरेस्ट गार्ड रिटायर हुआ और नए गार्ड पवन ने बीट संभाली।
X
Click to listen..