Hindi News »Himachal »Shimla» नर्सों को मिलेगा 13 माह का वेतन, दैनिक आहार भत्ता अब 25 रुपए

नर्सों को मिलेगा 13 माह का वेतन, दैनिक आहार भत्ता अब 25 रुपए

आईजीएमसी में शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह समारोह में बतौर मुख्यतिथि शिरकत...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 02:05 AM IST

नर्सों को मिलेगा 13 माह का वेतन, दैनिक आहार भत्ता अब 25 रुपए
आईजीएमसी में शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह समारोह में बतौर मुख्यतिथि शिरकत की। जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य स्वास्थ्य क्षेत्र को मजबूत किया जा रहा है और हिमाचल अपने नेतृत्व में आगे बढ़ रहे है। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि नर्सों को 13 महीने का वेतन दिया जाएगा, जो पहले वेतन और वेतन बैंड के बजाय नए मूल वेतन और ग्रेड वेतन के अनुसार दिया जाएगा। उन्होंने नर्सों के दैनिक आहार भत्ता को 6 रुपए से बढ़ाकर 25 रुपए करने की भी घोषणा की। आईजीएमसी के प्रधानाचार्य डॉ. रवि शर्मा ने कहा कि नर्सिंग पेशे चिकित्सा पेशे का एक अभिन्न अंग था और कोई भी नर्सों के बिना चिकित्सा सेवाओं के बारे में भी सोच नहीं सकता। वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ जनक राज ने कहा कि नर्सिंग पेशे मानवता के पीडितों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में सबसे पवित्र और महान पेशे और रीढ़ की हड्डी में से एक था।

रिक्त पदों को भरने की मांग उठाई : अतिरिक्त निदेशक व रजिस्ट्रार एचपीआरएनसी कौशल्या चौधरी ने कहा कि राज्य में विभिन्न संस्थानों से हर साल 2500 नर्सें निकल रही है। उन्होंने नर्सिंग के विभिन्न पदों को भरने का आग्रह किया। प्रशिक्षित नर्स एसोसिएशन की राज्याध्यक्ष ज्योति वालिया ने एसोसिएशन की विभिन्न मांगों का विस्तृत विवरण दिया। सिस्टर निवेदिता नर्सिंग कालेज की अध्यक्ष संतोष मांटा ने कहा कि इस वर्ष के नर्सिंग दिवस का विषय नर्स, ए वाइस टू लीड, हेल्थ इज ए ह्यूमन राइट, है। इस अवसर पर फ्लोरेंस नाइटिंगेल पर एक वृत्तचित्र भी दिखाया गया था।

नर्सिज सप्ताह के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में कलाकारों ने क्लासिकल नृत्य पेश किया।

नर्सों के भरे जाएंगे 1000 पद|मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए नर्सों के 1000 रिक्त पद भरे जाएंगे। आईजीएमसी में अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग डे समारोह के शुभारंभ पर उन्होंने कहा कि पिछले चार महीनों के दौरान राज्य सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र में कई पहल की हैं। 262 डॉक्टरों की पद भरे गए हैं। स्वास्थ्य संस्थानों को मजबूत बनाने के लिए डॉक्टरों और 2000 पैरामेडिकल कर्मचारियों की 200 से अधिक पदों को भरने की प्रक्रिया चल रही है । उन्होंने कहा कि पिछली राज्य सरकार ने प्रत्येक डिग्री कॉलेज के लिए 1 लाख रुपए का प्रावधान करके राज्य में 16 डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा की। बजट प्रावधान और कर्मचारियों के प्रावधान किए बिना उन्होंने अपने कार्यकाल में राज्य में कई स्वास्थ्य संस्थान खोले। मगर अब बिना बजट के कोई भी संस्थान नहीं खोला जा रहा। सरकार बजट व स्टॉफ भरने के लिए कदम उठा रही है।

हेल्थ रिपोर्टर | शिमला

आईजीएमसी में शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह समारोह में बतौर मुख्यतिथि शिरकत की। जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य स्वास्थ्य क्षेत्र को मजबूत किया जा रहा है और हिमाचल अपने नेतृत्व में आगे बढ़ रहे है। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि नर्सों को 13 महीने का वेतन दिया जाएगा, जो पहले वेतन और वेतन बैंड के बजाय नए मूल वेतन और ग्रेड वेतन के अनुसार दिया जाएगा। उन्होंने नर्सों के दैनिक आहार भत्ता को 6 रुपए से बढ़ाकर 25 रुपए करने की भी घोषणा की। आईजीएमसी के प्रधानाचार्य डॉ. रवि शर्मा ने कहा कि नर्सिंग पेशे चिकित्सा पेशे का एक अभिन्न अंग था और कोई भी नर्सों के बिना चिकित्सा सेवाओं के बारे में भी सोच नहीं सकता। वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ जनक राज ने कहा कि नर्सिंग पेशे मानवता के पीडितों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में सबसे पवित्र और महान पेशे और रीढ़ की हड्डी में से एक था।

रिक्त पदों को भरने की मांग उठाई : अतिरिक्त निदेशक व रजिस्ट्रार एचपीआरएनसी कौशल्या चौधरी ने कहा कि राज्य में विभिन्न संस्थानों से हर साल 2500 नर्सें निकल रही है। उन्होंने नर्सिंग के विभिन्न पदों को भरने का आग्रह किया। प्रशिक्षित नर्स एसोसिएशन की राज्याध्यक्ष ज्योति वालिया ने एसोसिएशन की विभिन्न मांगों का विस्तृत विवरण दिया। सिस्टर निवेदिता नर्सिंग कालेज की अध्यक्ष संतोष मांटा ने कहा कि इस वर्ष के नर्सिंग दिवस का विषय नर्स, ए वाइस टू लीड, हेल्थ इज ए ह्यूमन राइट, है। इस अवसर पर फ्लोरेंस नाइटिंगेल पर एक वृत्तचित्र भी दिखाया गया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×