--Advertisement--

राज्य एवं जिला स्तर पर युवा आइकॉन व एंबेसडर बनेंगे युवा विकलांगजन

हिमाचल प्रदेश में राज्य निर्वाचन विभाग आगामी लोकसभा चुनावों से पहले सभी विकलांगजनों को मतदाता बनाने एवं चुनाव...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 02:05 AM IST
राज्य एवं जिला स्तर पर युवा आइकॉन व एंबेसडर बनेंगे युवा विकलांगजन
हिमाचल प्रदेश में राज्य निर्वाचन विभाग आगामी लोकसभा चुनावों से पहले सभी विकलांगजनों को मतदाता बनाने एवं चुनाव प्रक्रिया में शामिल करने के लिए अभियान शुरू कर रहा है। इस उद्देश्य से विभाग द्वारा आयोजित पहले राज्य स्तरीय विशेष कंसल्टेशन में बतौर विकलांगता विशेषज्ञ शामिल हुए उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने बताया कि युवा विकलांगजनों राज्य एवं जिला स्तर पर युवा आइकॉन एवं एंबेसडर भी बनाया जाएगा। विकलांग मतदाताओं की पहचान के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं पंचायत प्रतिनिधियों की मदद लेने पर भी विचार होगा। राज्य के अतिरिक्त निर्वाचन अधिकारी दिलीप नेगी की अध्यक्षता में हुए इस अनूठे कंसल्टेशन में चुनाव आयोग की यूथ आईकॉन एवं उमंग फाउंडेशन से जुड़ी दृष्टिबाधित गायिका मुस्कान समेत एचपीयू के पांच विकलांग छात्र, शिक्षा विभाग से संयुक्त निदेशक हितेश आज़ाद और सभी जिलों से आए ज़िला व तहसील कल्याण अधिकारी शामिल हुए। चुनाव विभाग के वरिष्ठ अधिकारी नीरज शर्मा एवं अनिल कुमार ने कंसल्टेशन का संचालन किया।

हिमाचल प्रदेश में राज्य निर्वाचन विभाग आगामी लोकसभा चुनावों से पहले सभी विकलांगजनों को मतदाता बनाने एवं चुनाव प्रक्रिया में शामिल करने के लिए अभियान शुरू कर रहा है। इस अवसर पर उपस्थित एचपीयू के दिव्यांग छात्र।

चुनाव साक्षरता क्लब बनेंगे राज्य निर्वाचन अधिकारी दिलीप नेगी का कहना है कि राज्य निर्वाचन विभाग भारतीय चुनाव आयोग के निर्देशों के अनुसार सभी जिलों में नौवीं कक्षा से लेकर उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को चुनाव प्रक्रिया के प्रति जागरुक करने के लिए चुनाव साक्षरता क्लब भी बनाएगा। यह क्लब इसी महीने प्रत्येक स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय एवं अन्य शिक्षण संस्थाओं में स्थापित कर दिए जाएंगे। इनके माध्यम से विकलांग छात्रों एवं अन्य युवाओं को चुनाव प्रक्रिया के प्रति संवेदनशील बनाया जाएगा।

नई टेक्नोलॉजी के प्रयोग का सुझाव विवि के दिव्यांग छात्र मुकेश कुमार, सवीना जहां, नेहा एवं दृष्टिबाधित विद्यार्थी मुस्कान एवं इंदु कुमारी ने विकलांग लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करने एवं उनका मतदान संभव कराने में नवीनतम टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल का सुझाव दिया। उनका यह भी कहना था कि मतदाता जागरूकता से संबंधित सामग्री में हिंदी का इस्तेमाल ज्यादा होना चाहिए और उसे ब्रेल में भी उपलब्ध कराया जाए। चुनाव आयोग की दृष्टिबाधित यूथ आइकॉन मुस्कान ने कहा कि ईवीएम में टॉकिंग सॉफ्टवेयर होना चाहिए जिससे दृष्टिबाधित वोटर जान सके कि उसका वोट किसको पड़ा है।

X
राज्य एवं जिला स्तर पर युवा आइकॉन व एंबेसडर बनेंगे युवा विकलांगजन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..