Hindi News »Himachal »Shimla» मुख्यमंत्री से मिले रोहित ठाकुर, पांच बीघा तक जमीन देने की मांग उठाई

मुख्यमंत्री से मिले रोहित ठाकुर, पांच बीघा तक जमीन देने की मांग उठाई

पूर्व मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) रोहित ठाकुर ने रविवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से मुलाकात की। इस दौरान...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 14, 2018, 02:05 AM IST

पूर्व मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) रोहित ठाकुर ने रविवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने राज्य के छोटे व सीमांत किसानों एवं बागवानों को 5 बीघा तक सरकारी भूमि में राहत प्रदान करने की मांग उठाई। उन्होंने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि उच्च न्यायालय ने पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा वर्ष 2017 में मानवीय आधार पर लाई गई नीति को मानते हुए छोटे भूमिहीन तथा गरीब किसानों को 5 बीघे तक सरकारी भूमि में राहत देने की बात पर हामी भरी थी। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यवश इन आदेशों की अफसरों द्वारा धज्जियां उड़ाई जा रही है बल्कि इसके विपरीत अधिकारियों द्वारा उच्च न्यायालय एवं सरकार को गलत तथ्य देकर गुमराह किया जा रहा है। सच्चाई ये है कि एसआईटी द्वारा सैकडों छोटे बागवान जो अनुसूचित जाति एवं गरीबी रेखा से नीचे आने वाले किसानों को भी इस जद में लाया गया है।

यहां तक कि जिन किसानों को वर्षों पहले नोतौड़ मिल चुका था और कई किसानों के मामले भिन्न भिन्न न्यायालयों में लंबित पड़े थे और आगामी कार्यवाही के लिए स्टे था उन पर भी एसआईटी द्वारा तानाशाह रवैया अपनाते हुए कोई रहम नहीं रखा गया। उन्होंने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि पूरा क्षेत्र एक पुलिस छावनी में तबदील होने के कारण भय और दहशत का माहौल है। इस बर्बता पूर्व की गई कार्यवाही में जो गरीब असहाय भूमिहीन किसान आये है उनकी इस असहनीय क्षति की भरपाई और मुआवजा देने की पुरजोर मांग की है। अगर इन बेलगाम अफसरों पर अंकुश न लगाया गया तो सैकडों किसान बागवान इस कार्यवाही में आएंगे जिससे क्षेत्र में भुखमरी, बेरोजगारी तथा कई किसान आत्महत्या करने के लिए भी मजबूर हो सकते हैं। उन्होंने विषय की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×