• Home
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • गरीब परिवारों के बगीचे उजाड़ने पर नायब तहसीलदार जुब्बल का घेराव
--Advertisement--

गरीब परिवारों के बगीचे उजाड़ने पर नायब तहसीलदार जुब्बल का घेराव

जुब्बल में बीपीएल परिवार समेत तीन लोगों के सेब के पौधे काटने पर किसान सभा के बैनर तले लोगों ने नायब तहसीलदार का...

Danik Bhaskar | May 15, 2018, 02:05 AM IST
जुब्बल में बीपीएल परिवार समेत तीन लोगों के सेब के पौधे काटने पर किसान सभा के बैनर तले लोगों ने नायब तहसीलदार का घेराव किया। इस दौरान लोगों ने आरोप लगाया कि कोर्ट के आदेशों की आड़ में एसआईटी ने गरीब लोगों के बगीचे उजाड़ दिए। इन तीनों को सरकार ने नौतोड़ जमीन दी थी, जिसस पर अपने परिवार की आजीविका के लिए इन्होंने सेब के पौधे लगाए थे। बागवानों ने एसआईटी को जमीन के कागज भी दिए थे, लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। जो कि एसआईटी में शामिल अफसरों का गैर जिम्मेदारना रवैया है।

ठियोग के विधायक राकेश सिंघा व किसान सभा के अध्यक्ष कुलदीप तनवर भी धरने में मौजूद रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय किसान सुरिंद्र गमटा व सोहन लाल की मलकियत में डीएफओ रोहड़ू ने बिना सुनवाई के ही सेब के पौधे काट दिए। उन्होंने आरोप लगाया कि इस दौरान एसआईटी टीम के साथ आई पुलिस ने उन्हें डराया, धमकाया व जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि इसके विरुद्ध डीएफओ के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई गई है।

डीएफओ नहीं सुन रहे बागवानों की, कार्रवाई की मांग

किसान इस धरना के माध्यम से डीएफओ रोहड़ू के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर उसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग भी उठाई। उन्होंने कहा कि डीएफओ बागवानों की एक नहीं सुन रहे हैं और मनमर्जी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एसआईटी गरीब लोगों को उजाड़ना बंद करे। अन्यथा भविष्य में और बड़ा आंदोलन खड़ा किया जाएगा। उन्होंने सरकार से भी मांग की कि छोटे बागवानों के लिए नीति बनाई जाए, ताकि यूं उन्हें वर्षों की मेहनत के बाद तैयार किए गए सेब से हाथ नहीं धोना पड़े। इस दौरान राजिंद्र तेजटा, हरीश घमटा, जय सिंह जेटा, बालक राम राजटा, घनश्याम मांटा समेत कई किसान मौजूद रहे।

जुब्बल में नायब तहसीलदार का घेराव करते किसान बागवान

जुब्बल में नायब तहसीलदार कार्यालय का घेराव के दौरान किसान नेताओं ने सरकार को कोसा।