--Advertisement--

रात भर नायब तहसीलदार ऑिफस में हंगामा, भरोसे के बाद सुबह फिर काटे पेड़

जुब्बल क्षेत्र में एसआईटी द्वारा अवैध अतिक्रमण हटाओ मुहिम के खिलाफ आंदोलन कर रही किसान जमीन बचाओ संघर्ष समिति के...

Dainik Bhaskar

May 16, 2018, 02:05 AM IST
रात भर नायब तहसीलदार ऑिफस में हंगामा, भरोसे के बाद सुबह फिर काटे पेड़
जुब्बल क्षेत्र में एसआईटी द्वारा अवैध अतिक्रमण हटाओ मुहिम के खिलाफ आंदोलन कर रही किसान जमीन बचाओ संघर्ष समिति के तमाम प्रयासों के बाद भी एसआईटी ने सेब के अवैध बगीचों का कटान जारी रहा। नायब तहसीलदार जुब्बल को कुछ घंटों तक बंधक बनाने के बाद देर रात को एडीएम जीसी नेगी ने जुब्बल पंहुचे और समिति के सदस्यों के साथ मंगलवार सुबह दो बजे तक बैठक की लेकिन एसअाईटी ने मंगलवार को भी अतिक्रमण हटाओ अभियान जारी रखा।

एडीएम से की कटान रोकने की मांग

एडीएम जी सी नेगी के समक्ष विधायक राकेश सिंघा व शिमला के पूर्व मेयर संजय चौहान ने भू दस्तावेजों को प्रस्तुत कर डी एफ ओ रोहडू के ऊपर तानाशाह रवैया अपनाने का आरोप लगाया। सिंघा ने कहा कि रात को पेड़ न काटने का भरोसा दिया था लेिकन सुबह फिर पेड़ काट दिए। राकेश सिंघा ने प्रदेश सरकार से अवैध कटान के नाम पर सेब के पौधों को काटने की मुहिम पर तुरंत रोक लगाने की मांग की।

एडीएम ने दिया दस्तावेज जांचने का आश्वासन: मंगलवार सुबह करीब दो बजे तक बागवानों के साथ बैठक करने के बाद व दस्तावेजों को देखने के बाद ए डी एम जी सी नेगी ने कहा कि जिन बागवानों के सेब के बगीचों को काटा जाना है और उनके पास पुख्ता राजस्व दस्तावेज है वे एस डी एम रोहडू के समक्ष अपने दस्तावेज प्रस्तुत कर सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने डी एफ ओ के खिलाफ एफ आई आर दर्ज होने के मामले में भी छानबीन का आश्वासन दिया।

बंदोबस्त विभाग ने जारी किया प्रमाण पत्र : किसान जमीन बचाओ संघर्ष समिति ने मंगलवार को एस आई टी के समक्ष बंदोबस्त विभाग से एक प्रमाण पत्र जारी करवाया जिसमें जुब्बल के सोजला चैक के उन भू भागों का जिक्र किया गया है जिन पर दुरुस्ती का फैसला आना बाकी है। समिति ने एस आई टी पर इस प्रमाण पत्र को भी अनदेखा करने का आरोप लगाते हुए बताया कि मंगलवार को भी उन बागवानों के सेब के पौधे काटे गए जिनके मामले लंबित हैं।

सोमवार देर रात को ए डी एम शिमला के समक्ष बागवानों का पक्ष रखते राकेश सिंघा

सोमवार रात को हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा

ठियाेग के विधायक राकेश सिंघा, शिमला के पूर्व मेयर संजय चौहान के नेतृत्व में जुब्बल में एसआईटी द्वारा काटे जा रहे सेब के पौधों के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया। इस दौरान समिति के सदस्यों ने नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपने के बाद उन्हें उनके कार्यालय में ही बंधक बना दिया। मामले के तूल पकड़ता देख शिमला से एडीएम जी सी नेगी व एएसपी प्रोबीर को जुब्बल भेजा गया। रात करीब 9 बजे जुब्बल पंहुचे दोनों अधिकारियों ने मंगलवार सुबह 2 बजे तक समिति के सदस्यों की मांगों को सुना । इस दौरान बैठक में मौजूद बागवानों ने सेब के बगीचों को काटने को साजिश करा दिया।



सरकारी काम काज में बाधा पहुंचाने पर मामला दर्ज

नायब तहसीलदार जुब्बल का घेराव करने व उनको कार्यालय में बंदी करने को लेकर जुब्बल पुलिस थाना में मामला दर्ज हुआ है। नायब तहसीलदार रघुवीर सिंह चौहान की तरफ से दर्ज की गई एफ आई आर में ठियाेग के एम एल राकेश सिंघा, संजय चौहान, संसार खलास्टा, सुंदर लाल धांटा व जोगिंद्र चौहान को सरकारी काम काज में बाधा पहुंचाने के आरोप लगाए है। डीएसपी रोहडू अनिल शर्मा ने मामला दर्ज होने की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है।


X
रात भर नायब तहसीलदार ऑिफस में हंगामा, भरोसे के बाद सुबह फिर काटे पेड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..