--Advertisement--

कार्ल मार्क्स ने पूंजीवादी शोषण खत्म किया

माकपा शिमला शहरी कमेटी ने शनिवार को राजनीतिक अर्थशास्त्री कार्ल मार्क्स की 200वीं जयंती पर कालीबाड़ी हाल मे कार्ल...

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 02:10 AM IST
माकपा शिमला शहरी कमेटी ने शनिवार को राजनीतिक अर्थशास्त्री कार्ल मार्क्स की 200वीं जयंती पर कालीबाड़ी हाल मे कार्ल मार्क्स की जीवनी व विचारधारा विषय पर सेमिनार का आयोजन किया। सेमिनार में 200 से अधिक पार्टी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। सेमिनार को पार्टी के राज्य सचिव डाॅ. ओंकार शाद ने संबोधित किया। उन्होंने कार्ल मार्क्स के जीवन व दर्शन पर विस्तार से बात रखी। कार्ल मार्क्स ने दुनिया मे बढ़ रहे पूंजीवादी शोषण को खत्म कर समाजवादी समाज के निर्माण का दर्शन दिया।

उन्होंने कहा कि यह कार्ल मार्क्स ही थे जिन्होंने पहली बार समाज के बदलने के नियम दुनिया के समक्ष रखे जिसे ऐतिहासिक भौतिकवाद कहा जाता है। उन्होंने अपने राजनीतिक अर्थशास्त्र में उत्पादन प्रणाली, उत्पादन के साधनों व उत्पादन के संबंधों पर विस्तृत अध्ययन किया। इसी आधार पर उन्होंने पूंजी व श्रम के अंतरविरोधों की व्याख्या की। डाॅ. ओंकार शाद ने कहा कि आज के मौजूदा दौर में कार्ल मार्क्स के विचारों की प्रासंगिकता बढ़ी है।

पुरी दुनिया में आज पूंजीवादी संकट बढ़ा है। पूंजीवादी संकट के मेहनतकश जनता संघर्षरत है। उन्होंने कहा कि पार्टी इस मार्क्स की 200वीं जयंती के उपलक्ष्य पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आने वाले समय मे करेगी। सेमिनार मे पार्टी राज्य सचिवालय सदस्य कॉमरेड प्रेम गौतम, राज्य कमेटी सदस्य विजेंद्र मेहरा, शहरी कमेटी सचिव बलबीर पराशर, डॉ. रीना तनवर, सत्यवान पुंडीर, बाबू राम, विक्रम कायथ, चंद्रकांत वर्मा, सोनिया, जगमोहन ठाकुर, जयशिव, दिनेश, बालक राम, अदिति, रमन, दिनित आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

काली बाडी हाॅल में आयाेजितसीपीआईएम के एक दिवसीय सेमिनार में भाग लेते सीपीआईएम के कार्यकर्ता।