शिमला

--Advertisement--

जंजहैली के डैमेज कंट्रोल के लिए बागवानी काॅलेज देने की तैयारी

वित्त विभाग को मंजूरी के लिए भेजा है प्रस्ताव, कैबिनेट में मिल सकती है हरी झंडी शिमला| एसडीएम आॅफिस जंजहैली में...

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 02:10 AM IST
वित्त विभाग को मंजूरी के लिए भेजा है प्रस्ताव, कैबिनेट में मिल सकती है हरी झंडी

शिमला| एसडीएम आॅफिस जंजहैली में बंद होने से नाराज जनता को खुश करने के लिए जयराम सरकार शीघ्र ही सीएम के हलके में बागवानी काॅलेज खोलेगी। इसके लिए प्रस्ताव लगभग तैयार हो चुका है। विभाग की आेर से प्रस्ताव को मंजूरी के लिए वित्त विभाग को भेजा है। वित्त विभाग की हरी झंडी मिलते ही मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में इसे मंजूरी के लिए लाया जाना है। यह प्रदेश का पहला बागवानी कॉलेज होगा। इसके लिए सरकार ने मंडी जिला के जंजैहली क्षेत्र को चुना है। सरकार की आेर से सामान्य कालेज खोल ने की बजाय बागवानी कालेज खोलने का तोहफा दिया जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि राज्य में लंबे समय तक जंजहैली आैर थुनाग में एसडीएम आफिस खोलने का विरोध होता रहा। सीएम आफिस इस मसले पर जमीनी स्तर डैमेज कंट्रोल करने के लिए पूरी तैयारी कर रही है। डा. वाईएस परमार औधानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के अधीन ही यह कॉलेज चलेगा। अंडर ग्रेजुएट स्तर के कोर्सेज यहां पर शुरू किए जाएंगे। वोकेशनल एजुकेशन के तहत स्कूलों में हॉर्टीकल्चर और एग्रीकल्चर विषयों को शुरू किया गया है। इन से निकलने वाले छात्र बीएससी डिग्री कर पाएंगे।

प्रदेश का पहला बागवानी कॉलेज होगा: यह प्रदेश का पहला बागवानी कॉलेज होगा। राज्य में बागवानी एवं वानिकी कॉलेज के निर्माण को लेकर काफी पहले से मांग की जा रही थी। लेकिन इस पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका था। प्रदेश के युवाओं को इसका लाभ मिलेगा।

X
Click to listen..