--Advertisement--

युग के हत्यारोपियों का डिफेंस एविडेंस से इनकार

युग के हत्यारोपियों ने डिफेंस एविडेंस पेश करने से इनकार किया है। पिछले हफ्ते 313 सीआरपीसी में हत्यारोपियों की...

Danik Bhaskar | May 09, 2018, 02:10 AM IST
युग के हत्यारोपियों ने डिफेंस एविडेंस पेश करने से इनकार किया है। पिछले हफ्ते 313 सीआरपीसी में हत्यारोपियों की स्टेटमेंट रिकॉर्ड करने के बाद कोर्ट ने उन्हें डिफेंस एविडेंस का मौका दिया था और मंगलवार तक उन्हें बताने को कहा था कि वे अपने पक्ष में कितने गवाह पेश करेंगे। मंगलवार को जब अदालत ने हत्यारोपी चंद्र शर्मा, तेजेंद्र पाल और विक्रांत बख्शी से जब पूछा कि वे अपने पक्ष में कितने गवाह पेश करेंगे तो उन्होंने इनकार कर दिया। हत्यारोपियों की ओर से डिफेंस एविडेंस से इनकार कर दिए जाने पर अब मामला बहसबाजी (जिरह) के लिए चला गया। अदालत ने जिरह के लिए 15 मई की तिथि निर्धारित की है। जिरह अभियोजन पक्ष और बचाव पक्ष में होगी। जिरह खत्म होने के बाद फैसले की तिथि निर्धारित होगी। अभियान पक्ष की ओर से हत्यारोपियों के खिलाफ दोष साबित करने के लिए 105 गवाह पेश किए गए हैं और इनके बयान रिकॉर्ड कर लिए गए हैं। इनकी गवाही के आधार पर 313 की स्टेटमेंट करवाई गई।

कई ट्रायल के बाद फैसले के करीब पहुंचा केस

युग केस में 20 फरवरी 2017 को पहला ट्रायल शुरू हुआ था। 16 मई से 1 जून, 14 से 22 सितंबर, 16 से 20 नवंबर तक ट्रायल हुए। इस वर्ष 19 से 24 फरवरी और 27 फरवरी को ट्रायल हुए। कई ट्रायल के बाद अब यह केस अंतिम मोड़ पर पहुंच गया है। राम बाजार के विनोद गुप्ता के चार वर्षीय बेटे युग गुप्ता का अपहरण 14 जून 2014 हुआ था। राम बाजार के ही चंद्र शर्मा, तेजेंद्र पाल और विक्रांत बख्शी ने उसका अपहरण किया था। हफ्ते तक यातनाएं देने के बाद आरोपियों ने उसे मौत के घाट उतार दिया। दो साल तफ्तीश करने के बाद सीआईडी ने हत्यारोपी पकड़े। 25 अक्टूबर 2016 को सीआईडी ने हत्या आरोपियों के खिलाफ चालान कोर्ट में पेश किया।