--Advertisement--

हाईकोर्ट ने ठुकराई 5 बीघा से सेब के पेड़ न काटने की गुहार

शिमला | हाईकोर्ट ने चैंथला में वन भूमि पर सेब के बगीचे विकसित करने के मामले में प्रतिवादियों की इस मांग को नामंजूर...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 02:10 AM IST
शिमला | हाईकोर्ट ने चैंथला में वन भूमि पर सेब के बगीचे विकसित करने के मामले में प्रतिवादियों की इस मांग को नामंजूर दिया जिसके तहत उनके द्वारा काबिज 5 बीघा तक सरकारी जमीन से सेब के पेड़ न काटे जाने की गुहार लगाई थी। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान की खंडपीठ ने वर्ष 2002 में अवैध कब्जों को नियमित करने बाबत बनाएं ड्राफ्ट रूल्स की व्याख्या करने के बाद यह आदेश पारित किए। हाईकोर्ट ने कहा कि ड्राफ्ट रूल में बनाए गए प्रावधान के मुताबिक प्रतिवादी राज्य सरकार को 5 बीघा जमीन को उनके नाम हस्तांतरित करने के लिए आवेदन कर सकते हैं जिसमें कि राज्य सरकार द्वारा केवल मेरिट के आधार पर ही फैसला करना है। न्यायालय ने प्रतिवादियों के आवेदन को कानूनी तौर पर ठीक नहीं पाया। न्यायालय के अनुसार ड्राफ्ट रूल्स के तहत उनका हक जायज नहीं है। दूसरे वह 5 बीघा जमीन पर काबिज है जबकि उनकी अपनी जमीन 5 बीघा से कहीं अधिक है। इसके अलावा ड्राई रूल्स के मुताबिक राजस्व नियमों में बनाए अन्य प्रावधानों का भी अवलोकन किया जाना जरूरी है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..