• Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • मंडी में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण को लेकर 15 दिन में कमेटी सौंपेगी रिपोर्ट
--Advertisement--

मंडी में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण को लेकर 15 दिन में कमेटी सौंपेगी रिपोर्ट

मंडी में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की संभावनाआें को तलाशने के लिए आई एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया के विशेषज्ञों की...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 02:10 AM IST
मंडी में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की संभावनाआें को तलाशने के लिए आई एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया के विशेषज्ञों की टीम 15 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। मंडी में पांच संभावित स्थलों के निरीक्षण के बाद टीम ने चंडीगढ़ में हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मुलाकात की।

इस बैठक में सीएम को टीम के अधिकारियों ने दौरे का फीडबैक दिया, टीम मंडी दौरे के बाद सकारात्मक दिखा। टीम का नेतृत्व कर रहे भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारी विनोद पुनियाल ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को बताया कि टीम द्वारा एकत्रित डाटा का दिल्ली में जाकर विस्तार से आकलन किया जाएगा। 25 मई तक टीम अपनी रिपोर्ट सौंपेंगी। रिपोर्ट प्रदेश सरकार को सौंपकर तकनीकी मापदंडों को पूरा करने वाले स्थल की अनुशंसा की जाएगी। इस टीम बल्ह उपमंडल का नेर ढांगू, पधर उपमंडल में घोघराधार व बासाधार गोहर उपमंडल में मोवीसेरी व सदर मंडी में नंदगढ़ स्थल का दौरा किया।

पहाड़ी राज्य में अभी तक सड़कों पर ही है निर्भरता : हिमाचल में अभी तक परिवहन के लिए सड़कों पर ही निर्भरता है। सड़कों को हिमाचल की भाग्य रेखा कहा जाता है।

ग्रामीण सड़कों से लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग तक का नेटवर्क बढ़ा है। राज्य में रेलमार्ग नामात्र है, हवाई यात्रा के नाम पर कुछ ही फ्लाइट यहां से उड़ान भरती है। तीन ही हवाई पट्टियां है, गग्गल, कुल्लू आैर शिमला में हवाई पट्टी है। यहां से भी छोटी फ्लाइट उड़ती है।

जहां टीम भूमि का चयन करेगी, सरकार मुहैया करवाएगी जमीन

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण द्वारा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण के लिए जिस भी स्थल की अनुशंसा की जाएगी। प्रदेश सरकार द्वारा वहां समुचित भूमि भी मुहैया करवाएगी। उन्होंने कहा मंडी जिला राज्य के शिमला, कुल्लू-मनाली, लाहौल-स्पीति व कांगड़ा जिला का प्रवेशद्वार भी है। राज्य में विदेशी व घरेलू पर्यटकों के आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ-साथ सामरिक दृष्टि से भी यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे के निर्माण की नितांत आवश्यकता है, यहां की सीमाएं चीन के साथ सटी हैं।

23 अप्रैल को पीएम से की थी पर्यटन की दृष्टि से मांग

मुख्यमंत्री ने 23 अप्रैल को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु से मुलाकात की थी। इस दौरान इन्होंने कहा था कि राज्य में सैलानी भारी संख्या में पहुंचते हैं। हिमाचल प्रदेश घरेलू व विदेशी दोनों तरह के पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। राज्य में पर्यटकों की अधिकाधिक आमद सुनिश्चित करने और उनकी सुविधा के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे की उपलब्धता न होने से राज्य अपनी संपूर्ण पर्यटन क्षमता का लाभ उठा पाने से वंचित हो रहा है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..