शिमला

  • Hindi News
  • Himachal Pradesh News
  • Shimla News
  • शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज
--Advertisement--

शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज

पानी आग को बुझाने में मदद करता है लेकिन यहां पानी ने बैठे बिठाए शिमला शहर में राजनीति को गर्म कर दिया है। शिमला शहर...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 02:10 AM IST
शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज
पानी आग को बुझाने में मदद करता है लेकिन यहां पानी ने बैठे बिठाए शिमला शहर में राजनीति को गर्म कर दिया है। शिमला शहर में आए पानी के संकट ने इस बार शिमला सिटी के विधायक और शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज आैर ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह को भी एक दूसरे के सामने ला दिया है। शिमला शहर में पानी के संकट के समाधान के लिए गुम्मा दौरे पर गए सुरेश भारद्वाज परियोजना के आसपास किसानों से कुछ दिन सिंचाई को कम करने का सुझाव देकर आए। अभी भारद्वाज इस दौरे से शिमला पहुंचे ही थे कि शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने इस सुझाव पर कड़ा एतराज जताते हुए सिंचाई का पानी कम किए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दे डाली। विधायक विक्रमादित्य ने कहा कि शिमला ग्रामीण के पेयजल स्रोत से शिमला शहर को पानी नहीं दिया जाएगा। अगर ऐसा किया गया तो वह इसका विरोध करेंगे।

इन दिनों मिल पा रहा है सिर्फ 15 एमएलडीः विजिट के दौरान पाया गया कि नॉटी और गुम्मा दोनों को मिलाकर करीब 19 से 20 एमएलडी पानी शहर को मिल रहा है। गर्मियों में यहां से 14 से 15 एमएलडी पानी ही शहर को आ पाता है। पीछे के हिस्से में सिंचाई के कारण गुम्मा से क्षमता के मुताबिक पर्याप्त मात्रा में पानी की लिफ्टिंग नहीं हो पाती। स्थानीय लोगों से भी सहयोग के लिए अपील की जाए।

दूसरे विकल्प तलाशने के निर्देश ः शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यदि संभव हो तो आसपास पानी को कोई स्त्रोत विकल्प के तौर पर अपग्रेड किया जाए। गुम्मा परियोजना को ठीक करने के लिए कुछ समय पहले यहां पर पाइपों में रिपेयर की गई थी। इस दौरान कुछ किसानों की जमीन खराब भी हुई थी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि किसानों को उचित मुआवजा दिया जाएगा।

भारद्वाज पहुंचे थे गुम्मा परियोजना के निरीक्षण में

मंत्री व शहर के विधायक सुरेश भारद्वाज शुक्रवार को गुम्मा परियोजना में निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने शहर को अतिरिक्त पानी देने के लिए विकल्प देने के लिए सुझाव दिया कि गुम्मा से क्षेत्र के किसान रोजाना सिंचाई के लिए पानी उठा रहे हैं। इस वजह से रोजाना 4 से 5 एमएलडी तक पानी की लिफ्टिंग शहर के लिए कम हो पाती है। उन्होंने कहा कि उपायुक्त के माध्यम से स्थानीय किसानों से बात की जाएगी कि अगर किसान कुछ समय के लिए सिंचाई कम कर दें तो शहर को अतिरिक्त पानी मिल सकता है।

800 करोड़ की योजना को शुरू करो: विक्रमादित्य

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि शहर के लिए विश्व बैंक की सहायता से पूर्व कांग्रेस सरकार ने एक बहुआयामी 800 करोड़ रुपए की पेयजल योजना भी बनाई है जो लगभग पूरी हो चुकी है। राज्य सरकार को इसे तुरंत चालू करने के प्रयास करने चाहिए।

शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज
X
शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज
शिमला सिटी के विधायक के पानी लाने के फॉर्मूले पर शिमला ग्रामीण के विधायक को एतराज
Click to listen..