Hindi News »Himachal »Shimla» केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में जन एकता जन अधिकार आंदोलन 23 मई को शहर में करेगी प्रदर्शन

केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में जन एकता जन अधिकार आंदोलन 23 मई को शहर में करेगी प्रदर्शन

जन एकता जन अधिकार आंदोलन शिमला शहर की बैठक में शहरी स्तरीय कार्यकारिणी का गठन किया गया। इसमें बाबू राम को संयोजक व...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 02:10 AM IST

केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में जन एकता जन अधिकार आंदोलन 23 मई को शहर में करेगी प्रदर्शन
जन एकता जन अधिकार आंदोलन शिमला शहर की बैठक में शहरी स्तरीय कार्यकारिणी का गठन किया गया। इसमें बाबू राम को संयोजक व दिनित दैंटा को सह संयोजक चुना गया। बलबीर पराशर, फालमा चौहान, दिनेश मेहता,चंद्रकांत वर्मा, अनिल नेगी, जीवन, रमन थारटा, कपिल शर्मा, आकाश पालसरा, अनिल ठाकुर, शंटी, हेमराज, किशोरी, हिमी, जगमोहन ठाकुर, विक्की, रंजीव कुठियाला, रोशन लाल डोगरा, सुरेंद्र, केसी पंवर, एसडी शर्मा, विनोद को कमेटी सदस्य चुना गया।

इस दौरान जेजा के जिला शहरी संयोजक बाबू राम व सह संयोजक दिनित दैंटा ने कहा कि केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ 23 मई को शिमला शहर में विशाल प्रदर्शन किया जाएगा। 17 से 22 मई तक शहर भर में पर्चा वितरण कर जनता को जागरूक करेंगे। उन्होंने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार के कार्यकाल में किसानों की आत्महत्याएं बढ़ी हैं। किसानों के लिए बने स्वामीनाथन आयोग की लाभकारी मूल्य की सिफारिशों को लागू नहीं किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों की बेदखली की जा रही है। आवारा, नकारा व जंगली जानवर एक तिहाई पंचायतों में फसलों को तबाह कर रहे हैं। पानी का भारी संकट है व प्रदेश में सूखे जैसे हालात हैं। रूसा व्यवस्था से छात्र परेशान हैं। मजदूरों को केवल 6750 रुपए न्यूनतम वेतन दिया जा रहा है। प्रदेश में बलात्कार की घटनाएं बढ़ी हैं। बेरोजगारी चरम पर है। रोजगार आउटसोर्सिंग, कांट्रैक्ट व पार्ट टाइम के माध्यम से दिया जा रहा है। कर्मचारियों की पेंशन खत्म कर दी गई है। पेंशनरों को पेंशन नहीं मिल रही है। प्राइवेट स्कूलों में भारी फीसें वसूली जा रही हैं। इस सबके खिलाफ जेजा में आंदोलन खड़ा करेगा तथा शिमला शहर के सभी जनवादी व प्रगतिशील राजनीतिक व सामाजिक संगठनों को लामबंद करेगा।

बैठक में सीटू, दलित शोषण मुक्ति मंच, जनवादी महिला समिति, एसएफआई, डीवाईएफआई, नोर्थ जोन इंश्योरेंस इंप्लॉयज एसोसिएशन, शिमला नागरिक सभा, जन विज्ञान आंदोलन बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर सोसाइटी, बीएसएनएलइयू, उप नगरीय जन कल्याण समिति आदि संगठन मौजूद रहे।

जन एकता जन अधिकार आंदोलन की मीटिंग में हिस्सा लेते पदाधिकारी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×