शिमला

--Advertisement--

डीजीपी ने सरकार को सौंपा जवाब, कहा जेल मैनुअल के तहत किया था विजिट

शिमला | विवादित मुलाकात मामले में डीजीपी एसआर मरडी ने सरकार के पत्र को जवाब दे दिया है। सरकार ने इनसे पूछा था कि वह...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 02:10 AM IST
शिमला | विवादित मुलाकात मामले में डीजीपी एसआर मरडी ने सरकार के पत्र को जवाब दे दिया है। सरकार ने इनसे पूछा था कि वह कैथू जेल क्यों गए थे। उन्होंने अपने जवाब में कहा कि वह जेल मैनुअल के तहत ही दौरे पर गए थे, किसी विशेष से मुलाकात के लिए नहीं गए थे। इधर, डीजी जेल गोयल से जवाब का सरकार को अभी इंतजार है। इनसे सरकार ने कैथू जेल की सुरक्षा को लेकर जवाब तलब किया है। आरोप है कि जेल की सुरक्षा सही नहीं है। यहां पर कैसे कैदी बाहर अंदर जा रहे हैं। मामले में इन्हें शीघ्र ही गृह विभाग की आेर से दोबारा रिमाइंडर भेजा जा सकता है। सूरज हत्या केस के आरोपी एसपी डी डब्ल्यू नेगी के साथ और डीजीपी एसआर मरडी की विवादित मुलाकात का मामला पिछले दिनों काफी चर्चा में रहा। जेल में एसपी नेगी से मुलाकात को लेकर डीजीपी मरडी पर नियम दर किनार करने के आरोप लगे थे। डीजी जेल गोयल ने मुलाकात को लेकर जांच भी बिठाई थी और जेल अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था।

यह है मामला | डीजीपी मरडी की सूरज हत्या केस के आरोपी डी डब्ल्यू नेगी के साथ विवादित मुलाकात का मामला 20 फरवरी को सामने आया था। आरोप है कि डीजीपी नेगी से मिलने कैथू जेल पहुंचे थे। हालांकि, डीजीपी पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि वे नेगी से मिलने नहीं गए थे बल्कि कैथू पुलिस लाइन में चल रहे कार्यों का निरीक्षण करने गए थे। इसी दौरान नेगी वहां पर मिल गए। नेगी के साथ मुलाकात का यह मामला काफी गरमाया। डीजी जेल गोयल ने जेल अधीक्षक से रिपोर्ट तलब की थी। उसके बाद रिपोर्ट सरकार को भेजी। डीजीपी पर नियम दरकिनार करने का आरोप है। नियम के मुताबिक किसी कैदी या फिर न्यायिक हिरासत में चल रहे आरोपी से मिलने से पहले कोर्ट से परमिशन लेनी पड़ती है। यहां तक की सीबीआई को भी अगर नेगी से मिलना होता है तो कोर्ट से इजाजत लेना जरूरी है।

X
Click to listen..