Hindi News »Himachal »Shimla» 132 केवी सबस्टेशन जतोग की भराड़ी और खलीणी लाइन पर देवदार का पेड़ गिरने से लगा पावर कट

132 केवी सबस्टेशन जतोग की भराड़ी और खलीणी लाइन पर देवदार का पेड़ गिरने से लगा पावर कट

132 केवी सब स्टेशन जतोग में रविवार को आंधी तूफान आने के दौरान भराड़ी लाइन और खलीनी लाइन पर पेड़ गिर जाने से 33 केवी लाइन...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 02:10 AM IST

132 केवी सब स्टेशन जतोग में रविवार को आंधी तूफान आने के दौरान भराड़ी लाइन और खलीनी लाइन पर पेड़ गिर जाने से 33 केवी लाइन बंद हो गई। जिससे रात के समय इस पेड़ को हटाने और लाइन को दुरुस्त करने के लिए मरम्मत कार्य किया गया। जिससे मरम्मत करने के दौरान इस क्षेत्र की 11 केवी लाइन को शट डाउन कर दिया गया। जिससे कुछ एरिया रात के अंधेरे में रहे।

अंधेरे में गुजारनी पड़ी रात

टुटू ढैंडा के आस पास के क्षेत्र के लोगों को बिना बिजली के रात गुजारनी पड़ी। यहां रात आठ बजकर दस मिनट पर बिजली बंद हो गई थी और सुबह के समय करीब 3 बजकर 50 मिनट पर बिजली आई। इस दौरान लोगों को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ा।





132 केवी जतोग सबस्टेशन में खलीनी व भराड़ी लाइन के ऊपर पेड़ गिरा जिस कारण इस पेड़ को रातभर वहां से हटाया गया। इस लाइन से नीचे की लाइन से खतरा बना था इसलिए टुटू, ढैंडा की लाइन को शटडाउन करना पड़ा। शहर के कुछ एरिया चल रहे थे। जबकि मल्याणा सबस्टेशन से आईजीएमसी, केएनएच,दीनदयाल अस्पताल, अन्य जगह के लिए बिजली की सप्लाई दी गई। धर्मपाल, एसडीओ कसुम्पटी डिविजन नंबर दो

रात को हटाया पेड़

बिजली बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि रात के समय इस पेड़ को काटने और बिजली की लाइन को ठीक करने के लिए 15 लोग मौजूद रहे। बिजली की तारों से इस पेड़ को हटाने के लिए इसके नीचे से गुजर रही तारों से खतरा बना था जिससे टुटू ढैंडा एरिया को बंद करना पड़ा। बिजली की तारों से कोई खतरा न बने इसलिए पेड़ को हटाया गया।

यह एरिया रहे बंद

इस दौरान टूटू, ढांढा, रामपुर, बनुटी, जाठिया देवी, सहित ग्राम पंचायत एरिया बंद रहने से लोगों को परेशानी आए। यहां तक कुछ मैच के शौकीन शाम को बिजली बंद होने के कारण मैच नहीं देख पाए। जबकि स्कूली बच्चे भी अपना होमवर्क नहीं कर पाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shimla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×