--Advertisement--

सैहब कर्मचारियों पर फैसला अब २४ मई को

शिमला | सैहब सोसायटी के 33 कर्मचारी अभी भी काम पर नहीं लौटे हैं। इनमें 27 कूड़ा उठाने वाले, चार सुपरवाइजर और दो ड्राइवर...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 02:15 AM IST
शिमला | सैहब सोसायटी के 33 कर्मचारी अभी भी काम पर नहीं लौटे हैं। इनमें 27 कूड़ा उठाने वाले, चार सुपरवाइजर और दो ड्राइवर शामिल हैं। हाईकोर्ट ने कहा कि यह बड़ा खेद का विषय है कि इन लोगों के खिलाफ नगर निगम की ओर से एस्मा के तहत कोई कार्रवाई नहीं की गई। न्यायालय ने आदेश दिया कि इन लोगों के खिलाफ इस अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही को अंजाम दिया जाए। न्यायालय ने सैहब सोसाइटी के प्रधान के वक्तव्य में विरोधाभास पाते हुए उसे आदेश दिए कि वह न्यायालय के समक्ष बिना शर्त माफी मांगे। मामले पर सुनवाई 24 मई को निर्धारित की गई है।