समय से पहले सेब एकत्रीकरण केंद्र बंद, बागवानों में रोष, खोलने की उठाई मांग

Shimla News - जुब्बल कोटखाई क्षेत्र के उबादेश इलाके की ऊंचाई वाली ग्राम पंचायत कलबोग व रतनाड़ी में सेब सीजन समाप्त होने से...

Nov 09, 2019, 07:26 AM IST
जुब्बल कोटखाई क्षेत्र के उबादेश इलाके की ऊंचाई वाली ग्राम पंचायत कलबोग व रतनाड़ी में सेब सीजन समाप्त होने से पूर्व ही सेब एकत्रीकरण केंद्र बंद करने से स्थानीय जनता में रोष व्याप्त है।

बागवान व पूर्व जिला परिषद सदस्य लायक राम औस्टा, शिमला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रेम ठाकुर, राजीव गांधी पंचायतीराज संगठन के उपाध्यक्ष भाग चंद चौहान, सतपाल चौहान, ग्राम पंचायत कलबोग की प्रधान पूनम डोगरा, पंचायत समिति सदस्या मंजू डोगरा, ग्राम पंचायत कलबोग के पूर्व प्रधान जय लाल धान्टा, उबादेश कांग्रेस के जोन प्रभारी प्रकाश चौहान ज्ञान चौहान व सुनिल ठाकुर ने कहा है कि मंडी मध्यस्थता योजना के तहत खोले गए सेब एकत्रीकरण केन्द्रों के बंद होने से इस क्षेत्र में बागवानों को परेशानी का सामना है क्योंकि कई बागवानों की सेब की अभी घरों में पड़ी है।

मंडी मध्य स्थता योजना के तहत सेब एकत्रित केंद्र खोले गए थे लेकिन सरकार ने सेब सीजन समाप्त होने से पूर्व ही बंद करने के आदेश जारी कर दिए। उबादेश क्षेत्र में ऊंचाई वाले स्थानों में लगभग दस दिनों का सेब सीजन शेष है लेकिन केंद्र बन्द होने सेब घर में ही सड़ना शुरू हो गया हैं। एचपीएमसी व हिमफेड से बागवानों ने सेब सीजन समाप्त होने तक चालू रखने की मांग की गई थी लेकिन आनन फानन में ही सेब एकत्रीकरण केंद्र को बंद कर दिया। सरकार व विभाग द्वारा समय से पूर्व सेब एकत्रित केंद्रों का बन्द किया जाना बेहद आश्चर्यजनक हैं। इस बार सेब के दामों में भारी गिरावट से जनता को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा हैं वहीं दूसरी तरफ़ सरकार बागवानों को राहत देने की बजाय सेब एकत्रीकरण केंद्रों को बंद कर रही हैं।

सरकार से मांग की हैं कि बागवानों के हितों के देखते हुए सेब एकत्रीकरण केंद्रों को कम से कम 10 दिनों तक चालू रखा जाए। यदि सरकार केंद्रों को दोबारा चालू करने में नाकाम रहती हैं तो बागवानों को मजबूरन इसका विरोध करेंगे।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना