• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla News sjpn told the other companies in bubbing when the water delivered to chamba in 4 months was the same as expected from tale kelladam

एसजेपीएन ने िबडिंग में अाई कंपनियाें काे बताया, जब चाबा से 4 महीने में पहुंचाया पानी ताे काेलडैम से भी एेसी ही उम्मीद

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST

Shimla News - काेलडैम प्राेजेक्ट पर काम करने के लिए पहले काेई भी कंपनी तैयार नहीं थी, लेकिन अब इसके लिए तीन कंपनियां अागे अाई...

Shimla News - sjpn told the other companies in bubbing when the water delivered to chamba in 4 months was the same as expected from tale kelladam
काेलडैम प्राेजेक्ट पर काम करने के लिए पहले काेई भी कंपनी तैयार नहीं थी, लेकिन अब इसके लिए तीन कंपनियां अागे अाई हैं। इन कंपनियाें के काॅन्ट्रैक्टर ने शुक्रवार काे साइट विजिट के दाैरान यह जाना कि िकस तरह से सतलुज से शिमला के लिए पानी अाना है। इस विजिट का मकसद केवल इतना था कि िबडिंग में भाग लेने वाली कंपनियां शिमला की भाैगाेलिक स्थिति काे जान सके अाैर साथ ही प्राेजेक्ट के लिए उनकी जाे भी िजज्ञासा है उसे दूर िकया जा सके। एसजेपीएनएल के एजीएम राजेश कश्यप ने बताया कि िहमाचल की तीन कंपनियाें ने फिलहाल इस प्राेजेक्ट पर रूचि दिखाई है।

िबडिंग में भाग लेने वाली कंपनियाें के लिए 25 जून काे निविदाएं खाेली जाएगी। इससे पहले केंद्र सरकार के 986 कराेड़ के इस प्राेजेक्ट के लिए काेई भी कंपनी इंट्रस्ट नहीं ले रही थी। कारण यह था कि कंपनी ने पुराने बचे पेयजल के कामाें काे भी इसी नए प्राेजेक्ट में शामिल कर दिया था। इस कारण टेंडर में भाग लेने वाली कंपनियाें ने इस शर्त काे मानने से इनकार कर दिया था। उसके बाद एसजेपीएन ने इस शर्त काे हटाया व प्राेजेक्ट के लिए रिवाइज्ड टेंडर निकाला गया। उम्मीद है कि इस प्राेजेक्ट पर जल्द ही काम शुरू हाे जाएगा।

इस प्रोजेक्ट के तहत कंपनी का मकसद शहर में 24 घंटे पानी की सुविधा देना है। टेंडर प्रकिया पूरी होने के बाद कंपनी का प्रयास है कि लोगों को 24 घंटे पानी मिल सके। शहर में इन दिनों रोजाना 48 एमएलडी की सप्लाई हो रही है।

सतलुज से संजाैली टैंक का करवाया विजिट बिडिंग में भाग लेने वाली कंपनियाें के कांट्रेक्टर काे इस दाैरान सतलुज यानि शकराेड़ी पंचायत जहां से प्राेजेक्ट पर काम शुरु हाेना है, तक ले जाया गया। उन्हाेंने जाना कि सतलुज से कैसे पानी काे लिफ्ट िकया जाना है। इसके बाद पूरे रास्ते जहां टैंक बनाया जाना प्रस्तावित है उसके बारे में भी बताया गया है। वहीं पाइपाें के माध्यम से पानी संजाैली टैंक तक कैसे पहुंचेगा इसके लिए भी विजिट करवाई गई। कंपनी के कांट्रेक्टर इस बात काे लेकर अाश्वसत नहीं थे कि िशमला जैसे पहाड़ी एरिया में इतने बड़े प्राेजेक्ट पर काम करना कैसे संभव हाेगा लेकिन विजिट के दाैरान कांट्रेक्टर ने काफी रूचि दिखाई। अधिकारियाें ने कांट्रेक्टर काे चाबा परियाेजना के बारे में भी बताया कि यदि चार महीने से शिमला के लिए चाबा से पानी पहुंच सकता है ताे काेलडैम प्राेजेक्ट पर भी काम हाे सकता है।

X
Shimla News - sjpn told the other companies in bubbing when the water delivered to chamba in 4 months was the same as expected from tale kelladam
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543