• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla News sundernagar college will be excluded from cluster university minister directs principal secretary

सुंदरनगर काॅलेज काे क्लस्टर यूनिवर्सिटी से बाहर किया जाएगा,मंत्री ने दिए प्रधान सचिव को निर्देश

Shimla News - मंडी क्लस्टर यूनिवर्सिटी से सरकारी अनुदान प्राप्त महाराजा लक्ष्मण सेन मेमोरियल कॅालेज सुंदरनगर को बाहर किया...

Nov 11, 2019, 07:25 AM IST
मंडी क्लस्टर यूनिवर्सिटी से सरकारी अनुदान प्राप्त महाराजा लक्ष्मण सेन मेमोरियल कॅालेज सुंदरनगर को बाहर किया जाएगा। इसकाे लेकर विभागीय स्तर पर प्रक्रिया शुरू हाे चूकी है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने प्रधान सचिव शिक्षा केके पंत काे इसका केस तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यदि सुंदरनगर कॅालेज नहीं मान रहा है ताे उसे क्लस्टर यूनिवर्सिटी से बाहर करें अाैर प्रस्ताव तैयार कर वित्त विभाग काे भेजे, ताकि पद सृजित करने और फस्र्ट स्टैच्यूज को नोटिफाई करने पर फैसला लिया जा सके। यूनिवर्सिटी में मर्ज होने काे लेकर आनाकानी के कारण सरकार यह कदम उठाने जा रही है। इसी दुविधा में काफी समय निकल चुका है। राज्य सरकार ने रूसा के तहत बनने वाली मंडी क्लस्टर यूनिवर्सिटी को स्थापित करने का विधेयक 24 मार्च 2018 को नोटिफाई किया था। मार्च 2019 में प्रो. सीएल चंदन को इसका वीसी भी नियुक्त कर दिया गया। लेकिन उसके बाद से मसला अटका हुआ है। यूनिवर्सिटी को चलाने के लिए न तो जरूरी पद सरकार ने सृजित किए। न ही इसके फस्र्ट स्टैच्यूज के विधेयक को विधानसभा में लाया जा सका। इस कारण केंद्र सरकार ने भी इसके लिए पैसा जारी नहीं किया।

सरकार ने पहले ये लिया था निर्णय

राज्य सरकार ने सरकार ने सरदार वल्लभ भाई पटेल क्लस्टर यूनिवर्सिटी मंडी की अधिसूचना में ये व्यवस्था की थी कि मंडी, बासा, द्रंग और सुंदरनगर कॅालेज इसके तहत होंगे। सुंदरनगर के अलावा शेष तीनों कालेज सरकारी हैं। सभी कालेजों में इसके तहत निर्माण कार्य भी शुरू हो गए। आईआईटी को दिए गए मंडी कॅालेज के मांडव्य भवन को क्लस्टर यूनिवर्सिटी के लिए दे दिया गया है और इसका कब्जा अब यूनिवर्सिटी के पास है। लेकिन अब पद सृजित न होने के कारण यूनिवर्सिटी में आउटसोर्स पर भी भर्ती नहीं हो पा रही है। इसके लिए मसला अब वित्त विभाग में जा रहा है। रूसा के तहत सरकार इस क्लस्टर यूनिवर्सिटी के बहाने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी का बोझ कम करना चाहती है। इसके पूरी तरह कार्यशील होने के बाद एफिलिएशन का काम भी क्लस्टर यूनिवर्सिटी को ही जाना है। लेकिन इस काम में बहुत वक्त लग रहा है।

सांसद ने भी रखा था तर्क: सांसद राम स्वरूप शर्मा ने पिछले सप्ताह मंडी क्लस्टर यूनिवर्सिटी को जल्द शुरू करने काे लेकर शिक्षा मंत्री के साथ बैठक की थी। बैठक में इस मसले पर चर्चा की गई थी कि कॅालेज काे बाहर कर इसे जल्द शुरू किया जाए। शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों काे निर्देश दिए हैं कि जल्द ही इसका प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना