• Hindi News
  • Himachal
  • Shimla
  • Shimla News the driver was made a hrtc proxy after the fake certificate of tenth now the case will be investigated

दसवीं का फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर एचआरटीसी में राजकुमार बना था ड्राइवर, अब केस, होगी जांच

Shimla News - एचआरटीसी के एक ड्राइवर पर फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर नौकरी लेने का मामला दर्ज किया गया है। बिलासपुर के एक व्यक्ति...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:25 AM IST
Shimla News - the driver was made a hrtc proxy after the fake certificate of tenth now the case will be investigated
एचआरटीसी के एक ड्राइवर पर फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर नौकरी लेने का मामला दर्ज किया गया है। बिलासपुर के एक व्यक्ति की शिकायत पर यह मामला बालूगंज थाना में दर्ज किया गया है।

एचआरटीसी में ड्राइवर के तौर पर काम कर रहा राजकुमार वर्तमान में रिकांगपिओ डिपो के तहत तैनात है। राजकुमार गांव साई नोडुवां, तहसील सदर जिला बिलासपुर का रहने वाला है और इसका चयन बीते साल ड्राइवर के पद के लिए हुआ था। लेकिन आरोप है कि इसने इसके लिए जून माह में दसवीं का फर्जी सर्टिफिकेट तैयार किया और इसके आधार पर ड्राइवर की नौकरी ले ली। राजकुमार के खिलाफ इसके गांव के ही एक युवक राकेश कुमार ने बालूगंज थाना में दी शिकायत दी है। इसमें कहा गया0 है कि उसके गांव राजकुमार ने पिछले साल जून महीने में 10 वीं पास का फर्जी सर्टिफिकेट बनवाया और इसके आधार पर एचआरटीसी में ड्राइवर के पद पर भर्ती हो गया। हालांकि राजकुमार ने राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान से दसवीं वर्ष अप्रैल 2012 में पास की दर्शाई है, जबकि यह सर्टिफिकेट बीते साल ही बनाया गया। इस तरह फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर एचआरटीसी में ड्राइवर की नौकरी ले ली।

उधर डीएसपी प्रमोद शुक्ला ने कहा है कि शिकायत पर एचआरटीसी के ड्राइवर राजकुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

क्राइम रिपोर्टर| शिमला

एचआरटीसी के एक ड्राइवर पर फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर नौकरी लेने का मामला दर्ज किया गया है। बिलासपुर के एक व्यक्ति की शिकायत पर यह मामला बालूगंज थाना में दर्ज किया गया है।

एचआरटीसी में ड्राइवर के तौर पर काम कर रहा राजकुमार वर्तमान में रिकांगपिओ डिपो के तहत तैनात है। राजकुमार गांव साई नोडुवां, तहसील सदर जिला बिलासपुर का रहने वाला है और इसका चयन बीते साल ड्राइवर के पद के लिए हुआ था। लेकिन आरोप है कि इसने इसके लिए जून माह में दसवीं का फर्जी सर्टिफिकेट तैयार किया और इसके आधार पर ड्राइवर की नौकरी ले ली। राजकुमार के खिलाफ इसके गांव के ही एक युवक राकेश कुमार ने बालूगंज थाना में दी शिकायत दी है। इसमें कहा गया0 है कि उसके गांव राजकुमार ने पिछले साल जून महीने में 10 वीं पास का फर्जी सर्टिफिकेट बनवाया और इसके आधार पर एचआरटीसी में ड्राइवर के पद पर भर्ती हो गया। हालांकि राजकुमार ने राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान से दसवीं वर्ष अप्रैल 2012 में पास की दर्शाई है, जबकि यह सर्टिफिकेट बीते साल ही बनाया गया। इस तरह फर्जी सर्टिफिकेट तैयार कर एचआरटीसी में ड्राइवर की नौकरी ले ली।

उधर डीएसपी प्रमोद शुक्ला ने कहा है कि शिकायत पर एचआरटीसी के ड्राइवर राजकुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

X
Shimla News - the driver was made a hrtc proxy after the fake certificate of tenth now the case will be investigated
COMMENT