टाइमबाउंड हुआ निर्माण कार्य, अगस्त तक बनकर तैयार हाेंगे चार हेलीपाेर्ट

Shimla News - विभाग ने 3 कंपनियाें काे शाॅर्टलिस्ट कर उन्हें सशर्त काम अावंटित कर दिया है शिमला हेलीपाेर्ट का निर्माण...

Feb 14, 2020, 07:30 AM IST
{विभाग ने 3 कंपनियाें काे शाॅर्टलिस्ट कर उन्हें सशर्त काम अावंटित कर दिया है

शिमला हेलीपाेर्ट का निर्माण अप्रैल तक पूरा होगा

शिमला में हेलीपाेर्ट का निर्माण कार्य 65 प्रतिशत तक पूरा हाे चुका है। शेष 35 प्रतिशत कार्य काे पूरा करने की विभाग ने समय सीमा तय कर दी है। विभाग का दावा है कि अप्रैल तक शिमला हेलीपाेर्ट का निर्माण कार्य पूरा कर दिया जाएगा। यहां पर हेेलीपाेर्ट का टाॅप लैंडिंग का कार्य शेष रह गया है। वीरवार काे भी विभाग के अधिकारियाें ने स्पाॅट विजिट कर इसके प्राेग्रेस काे जांचा अाैर कंपनी काे काम में तेजी लाने काे कहा। अप्रैल में इस हेलीपाेर्ट का निर्माण कार्य पूरा करने के बाद इसे सरकार काे साैंप दिया जाएगा।

जाएगी। इन चाराें हेलीपाेर्ट के निर्माण कार्य पर विभाग 20 कराेड़ रुपए खर्च करेगा। इसमें दस कराेड़ रुपए कंस्ट्रक्शन वर्क पर अाैर शेष दस कराेड़ रुपए यहां पर दी जाने वाली दूसरी अन्य सुविधाओं अाैर सुरक्षा कार्याें पर खर्च किए जाएंगे। इसमें फायर फाइटिंग सिस्टम के अलावा यात्रियाें की सुविधा के लिए दी जाने वाली अन्य सीविल वर्क शामिल है। साल पहले शुरू की गई उड़ान दाे याेजना के तहत अभी प्रदेश के तीन क्षेत्राें काे ही एयर कनेक्टिविटी से जाेड़ा गया है। इसमें शिमला, भुंतर अाैर धर्मशाला शामिल हैं। चार नए हेलीपाेर्ट के बन जाने के बाद इसका दायरा अाैर बढ़ाया जाएगा जाे लाेगाें के लिए काफी फायदेमंद साबित हाेगा। पर्यटन विभाग के निदेश युनूस ने कहा कि अगले छह महीने के भीतर चार नए हेलीपाेर्ट तैयार करने की समय सीमा तय कर दी है। तीन कंपनियाें काे शार्टलिस्ट कर उन्हें काम अाबंटित कर दिया गया है।

शिमला | प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी काे बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने चार हेलीपाेर्ट के निर्माण कार्य काे टाइम बाउंड कर दिया है। इसमें कांगनीधार, बद्दी, रामपुर अाैर मनाली का सासे हेलाेपाेर्ट शामिल हैं। अगस्त तक निर्माण कार्य पूरा करने को कहा गया है। इन हेलीपाेर्ट के निर्माण के लिए विभाग ने तीन कंपनियाें काे शाॅर्टलिस्ट कर उन्हें सशर्त काम अावंटित कर दिया है। 2500 वर्ग मीटर से अधिक के दायरे में ये हेलीपाेर्ट बनाए जाएंगे।

यहां पर एक साथ तीन हेलीकाॅप्टर के लैंडिग की सुविधा हाेगी। उड़ान दाे याेजना के तहत इन चार क्षेत्राें काे अाने वाले छह महीनाें में एयर कनेक्टिविटी से जाेड़ कर लाेगाें काे बड़ी राहत दी जाएगी। इन चाराें हेलीपाेर्ट के निर्माण कार्य पर विभाग 20 कराेड़ रुपए खर्च करेगा। इसमें दस कराेड़ रुपए कंस्ट्रक्शन वर्क पर अाैर शेष दस कराेड़ रुपए यहां पर दी जाने वाली दूसरी अन्य सुविधाओं अाैर सुरक्षा कार्याें पर खर्च किए जाएंगे। इसमें फायर फाइटिंग सिस्टम के अलावा यात्रियाें की सुविधा के लिए दी जाने वाली अन्य सीविल वर्क शामिल है। साल पहले शुरू की गई उड़ान दाे याेजना के तहत अभी प्रदेश के तीन क्षेत्राें काे ही एयर कनेक्टिविटी से जाेड़ा गया है। इसमें शिमला, भुंतर अाैर धर्मशाला शामिल हैं। चार नए हेलीपाेर्ट के बन जाने के बाद इसका दायरा अाैर बढ़ाया जाएगा जाे लाेगाें के लिए काफी फायदेमंद साबित हाेगा। पर्यटन विभाग के निदेश युनूस ने कहा कि अगले छह महीने के भीतर चार नए हेलीपाेर्ट तैयार करने की समय सीमा तय कर दी है। तीन कंपनियाें काे शार्टलिस्ट कर उन्हें काम अाबंटित कर दिया गया है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना