इस जाम से शहर को राहत कब

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:25 AM IST

Shimla News - शिमला| राजधानी शिमला में ट्रैफिक जाम से लोगों का राहत नहीं मिल पा रही। शहर में आए दिन ट्रैफिक जाम लग रहा है, जिसमें...

Shimla News - when the city gets relief from this jam
शिमला| राजधानी शिमला में ट्रैफिक जाम से लोगों का राहत नहीं मिल पा रही। शहर में आए दिन ट्रैफिक जाम लग रहा है, जिसमें लोग फंस रहे हैं। वीरवार को भी शहर में जगह-जगह ट्रैफिक जाम लगा। ऑकलैंड टनल के पास भी गाड़ियों की लाइनें लग गईं। इससे काफी समय तक लोग वहां फंसे रहे। छोटा शिमला, बस स्टैंड, विक्ट्री टनल, रेलवे स्टेशन के आसपास भी गाड़ियों की लाइनें लगी रहीं। हालांकि प्रशासन ने शहर ट्रैफिक सुचारू रुप से चलाने के लेकर कई कदम उठाने का दावा किया है, लेकिन इसका कोई असर शहर में नहीं दिख रहा।

इधर, उद्घोष संस्था ने कहा, ट्रैफिक से निपटने के लिए स्कूलाें में छुट्टियों का फैसला गलत

शिमला| जिला प्रशासन ने शिमला शहर में पर्यटकों की सुविधा एवं यातायात जाम से बचने के लिए स्कूलों मंे बच्चों को छुट्टी करने का निर्णय लिया है। उद्घाेष संस्था ने जिला प्रशासन के इस निर्णय का विराेध िकया है। संस्था का कहना है कि जिला प्रशासन यदि जाम से निपटने में सक्षम नहीं है तो इसका कोई और उपाय भी निकाला जा सकता है। बाहरी पर्यटकों की सुविधा के लिए शिमला के स्थानीय निवासियों के साथ प्रशासन हमेशा ही भेदभाव करता अाया है। स्थानीय लोगों को ही इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है। जिला प्रशासन के इस तरह के फैसलाें से बच्चाें की पढ़ाई बाधित हाे रही है। भारी फीस चुकाने के बाद जाम की समस्या के लिए स्कूल के बच्चे क्याें भुगते। अभिभावक पहले ही फीस और स्कूल के अन्य खर्च के बाेझ तले दबे है। पर्यटकों की गाड़ियों को बॉयपास पर रोक कर वैकल्पिक व्यवस्था करने की ओर प्रशासन को ध्यान देना चाहिए। संस्था के चेयरमैन हेम राज चाैहान का कहना है कि बच्चों की पढ़ाई का ये समय बेहद कीमती है। शनिवार काे अवकाश घाेषित करने का यह फैसला बेहद गलत है। प्रशासन को स्थानीय लोगों की आवश्यकताओं को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इससे पहले भी जब पानी के लिए शिमला तरस रहा था तो पर्यटकों के लिए होटलों में पानी की समुचित व्यवस्था बनाने के लिए तो उचित कदम उठाए गए थे और लोगों को पानी नहीं मिल पाता था। अब पर्यटकों की तादात बढ़ गई तो स्कूल में शनिवार को अवकाश का निर्णय बच्चों की पढ़ाई और अभिभावकों के साथ अन्याय है।

X
Shimla News - when the city gets relief from this jam
COMMENT