थियोग

--Advertisement--

इलाज की बजाय डॉक्टर ने 88 साल की महिला को बाजू से पकड़कर बाहर धकेला

ठियोग सिविल अस्पताल में शुक्रवार को अपनी पीठ के दर्द का इलाज करवाने के लिए आई 88 वर्षीय महिला सुन्नी देवी को डॉक्टर...

Dainik Bhaskar

Mar 18, 2018, 02:10 AM IST
ठियोग सिविल अस्पताल में शुक्रवार को अपनी पीठ के दर्द का इलाज करवाने के लिए आई 88 वर्षीय महिला सुन्नी देवी को डॉक्टर ने इलाज देने की बजाय बाजू से पकड़कर बाहर धकेल दिया। सुन्नी देवी के बेटे डॉक्टर की इस बदसलूकी के खिलाफ ठियोग हॉस्पिटल प्रशासन के साथ ही एसडीएम को भी शिकायत दी गई है। हॉस्पिटल प्रशासन ने भी आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मरीज का इलाज न करने और मरीज के साथ बदसलूकी की शिकायत आने की पुष्टि की है।

गांव बड़ैल की बुजुर्ग महिला सुन्नी देवी के मुताबिक वो शुक्रवार को अस्पताल में हड्‌डी विशेषज्ञ डाॅ. अभिनव के कक्ष में उपचार के लिए आई थीं। उन्हें तीन दिनों से पीठ में तेज दर्द है। दर्द की वजह से ज्यादा देर खड़ा या बैठ नहीं पा रही थी, तो मेरे बेटे कल्याण ने मेरी पर्ची डाॅक्टर के टेबल पर रखकर मेरा चेकअप पहले करने का आग्रह किया। डाॅक्टर ने उन्हें इंतजार करने के लिए कहा। वो वहां डॉक्टर के कमरे में ही एक स्टूल पर बैठ गईं, लेकिन इस बीच डाॅक्टर के जान पहचान के मरीज आते रहे और दर्द के बावजूद मेरा चेकअप टलता रहा। सुन्नीदेवी के अनुसार मेरे बेटे ने फिर से डाॅक्टर से मेरा चेकअप करने का आग्रह किया, वहीं कमरे में बैठे एक अन्य डॉक्टर मेरा बाजू पकड़कर बोला कि आप बाहर बैठिए। उस डाॅक्टर ने मेरे बेटे को भी काफी अपशब्द कहे। सुन्नी देवी ने अस्पताल प्रशासन से एक वृद्धा से इस प्रकार का व्यवहार करने वाले डाॅक्टरों के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की है। वृद्धा ने कहा है कि यदि कार्रवाई न की गई तो वे मुख्यमंत्री के समक्ष इस दुर्व्यवहार की शिकायत करेंगी।

डाॅक्टर को दे रहे हैं नोटिस | अस्पताल प्रभारी डाक्टर दिलीप टेक्टा ने बताया कि वरिष्ठ महिला की शिकायत उन्हें मिली है और वे आरोपी डाक्टर को नोटिस कर उनका जवाब मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और अस्पताल प्रशासन आवश्यक कार्रवाई करेगा।

X
Click to listen..