--Advertisement--

सरैंन में आग से एक हजार सेब के पौधे झुलसे

विकास खंड चौपाल की माटल और सरैंन पंचायत में भीष्ण आग से करीब एक हज़ार से अधिक सेब के फलदार पौधे झुलस कर लगभग पूरी तरह...

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2018, 02:10 AM IST
विकास खंड चौपाल की माटल और सरैंन पंचायत में भीष्ण आग से करीब एक हज़ार से अधिक सेब के फलदार पौधे झुलस कर लगभग पूरी तरह ही नष्ट हो गए। वन विभाग, फायर बिग्रेड, के कर्मचारी व् स्थानीय लोग यदि समय रहते काबू न पा लेते तो कोटि व् जनलोग, गांव में लोगो के घर भी आग की भेंट चढ़ जाते। पंचायत में आग लगने का कारण बागीचे में झाड़ियां जलाना बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार कोटि गांव के पास क्यार गांव में वीरवार को एक व्यक्ति अपने बगीचे में झाड़ियां जला रहा था, इस मध्य आग बेकाबू हो गई और साथ लगती घासनियो में फ़ैल गई।

स्थानीय लोगों ने वन विभाग और फायर ब्रिगेड के सहयोग से रात तक आग पर काबू पा लिया था,लेकिन देर रात को तेज हवा चलने के कारण अचानक आग फिर से भड़क उठी तथा साथ लगते बगीचों में चली गई। आग की चपेट में आने से कोटि गांव वासी सन्तराम के 500, हीरासिंह के 300 तथा सुरेन्द्र सिंह के 200 सेब के पेड़ आग की चपेट में आ कर पूरी तरह नष्ट हो गए। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। दमकल विभाग, वन कर्मचारी, व् स्थानीय लोगों ने कड़ी मशक्कत कर समय रहते आग पर काबू पा लिया।

बलैयां गांव में चार कमरों का मकान जला

ठियोग | ठियोग विकास खंड की टियाली पंचायत के बलैयां गांव में दोपहर बाद एक मकान में आग लग गई जिससे वह पूरी तरह से जल गया। यह मकान हरिनंद का था और गांव से थोड़ी दूर बगीचे में बना हुआ था। सड़क से दूर होने के कारण वहां तक फायर ब्रिगेड नहीं पहुंच सकती थी सो ग्रामीणों ने स्वयं आग बुझाने के प्रयास किए लेकिन तेज हवा के कारण वे आग पर काबू न पा सके। ग्रामीणों पशुशाला में बंधे पालतु पशुओं को पशुशाला से बाहर निकाल लिया । पंचायत के उपप्रधान हरिकिशन वर्मा ने बताया कि इस मकान में तीन कमरे और एक रसोई थी जो पूरी तरह जल गए और घर का सारा सामान भी जल गया है। लोगों ने पुलिस चौकी फागू में सूचना दी है जिसके बाद पुलिस मौके पर रवाना हो गई है। प्रशासन ने प्रभावितों को दस हजार की राहत दी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..