Hindi News »Himachal »Thiyog» नप वार्ड नंबर चार में कभी भी गिर सकता है रेन शैल्टर

नप वार्ड नंबर चार में कभी भी गिर सकता है रेन शैल्टर

ठियोग नगर में जर्जर अवस्था में पहुंच चुके पुराने भवनों व अन्य निर्माणों को गिराने में हो रही देरी दुर्घटनाओं का...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 13, 2018, 02:10 AM IST

ठियोग नगर में जर्जर अवस्था में पहुंच चुके पुराने भवनों व अन्य निर्माणों को गिराने में हो रही देरी दुर्घटनाओं का कारण बन सकती है। नगर के वार्ड नंबर चार में बस बरसों पुरानी एक वर्षा शालिका लंबे समय से जर्जर हालत में है और कभी भी यहां कोई हादसा हो सकता है। अव्यवस्था की हालत यह है कि इस वर्षा शालिका में चाय की दुकान चल रही है और यहां बड़ी संख्या में लोग बैठे रहते हैं। इस दो मंजिला वर्षा शालिका के निचले हिस्से में कई दरारें आ चुकी हैं। पिछले साल 4 अगस्त हो ठियोग बस स्टैंड में परिवहन निगम के गिरने का दर्दनाक हादसा हो चुका है जिसमें चार जाने जा चुकी हैं। ठियोग में इसके अलावा वार्ड नंबर तीन में सूद मेंशन भवन और अन्य वार्डों में भी कुछ भवन ऐसे हैं जो जर्जर व पुराने हो चुके हैं और उनमें दरारें पड़ी हुई हैं। कुछ दिन पहले वार्ड नंबर एक में भी वर्षा शालिका गिर चुकी है। 7 माह से अभी तक नप इन भवनों की रिपोर्ट प्रशासन को नहीं दे पाया है।

जर्जर अवस्था में पहुंच चुके पुराने भवनों व अन्य निर्माणों को गिराने में हो रही देरी दुर्घटनाओं का बन सकती है कारण

जर्जर शालिका में बैठे लोग।

मोहन साहिल | ठियोग

ठियोग नगर में जर्जर अवस्था में पहुंच चुके पुराने भवनों व अन्य निर्माणों को गिराने में हो रही देरी दुर्घटनाओं का कारण बन सकती है। नगर के वार्ड नंबर चार में बस बरसों पुरानी एक वर्षा शालिका लंबे समय से जर्जर हालत में है और कभी भी यहां कोई हादसा हो सकता है। अव्यवस्था की हालत यह है कि इस वर्षा शालिका में चाय की दुकान चल रही है और यहां बड़ी संख्या में लोग बैठे रहते हैं। इस दो मंजिला वर्षा शालिका के निचले हिस्से में कई दरारें आ चुकी हैं। पिछले साल 4 अगस्त हो ठियोग बस स्टैंड में परिवहन निगम के गिरने का दर्दनाक हादसा हो चुका है जिसमें चार जाने जा चुकी हैं। ठियोग में इसके अलावा वार्ड नंबर तीन में सूद मेंशन भवन और अन्य वार्डों में भी कुछ भवन ऐसे हैं जो जर्जर व पुराने हो चुके हैं और उनमें दरारें पड़ी हुई हैं। कुछ दिन पहले वार्ड नंबर एक में भी वर्षा शालिका गिर चुकी है। 7 माह से अभी तक नप इन भवनों की रिपोर्ट प्रशासन को नहीं दे पाया है।

जर्जर वर्षा शालिका का निचले हिस्से में पड़ी दीवारें।

नप व विभागों को दिए थे निर्देश :पिछलेसाल परिवहन निगम का भवन गिरने के बाद प्रशासन कुछ सक्रिय हुआ था और एसडीएम ठियोग ने नप ठियोग व विभागों को जर्जर हो चुके भवनों को नप से रिपोर्ट मांगी थी। नगर परिषद में केवल कोषागार भवन की अब तक डिस्मेंटल किया गया है। नप के कनिष्ठ अभियंता वेदप्रकाश ने बताया कि वार्ड नंबर तीन में एक भवन और वार्ड नंबर चार में वर्षा शालिका जर्जर अनसेफ है और इसकी रिपोर्ट वीरवार को एसडीएम का दी है।

एसडीएम बोले जल्द होगी कार्रवाई

नप क्षेत्र में सभी सरकारी व निजी भवनों की रिपोर्ट मांगी गई है और जो भी भवन व अन्य निर्माण अनसेफ होगा उसे तुरंत गिराने के निर्देश दिए जाएंगे। लोकनिर्माण विभाग को भी ग्रामीण क्षेत्रों में जर्जर भवनों की रिपोर्ट तैयार कर कार्रवाई को कहा जा रहा है। मोहनदत्त शर्मा, एसडीएम, ठियोग

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Thiyog

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×