थियोग

--Advertisement--

पंचायत स्तर पर होगी पेयजल स्रोतों के पानी की जांच

समिति भवन में आयोजित पेयजल स्वच्छता बैठक में आए पंचायत प्रधान। सिटी रिपोर्टर|ठियोग पेयजल स्त्रोतों की सफाई व...

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 02:15 AM IST
पंचायत स्तर पर होगी पेयजल स्रोतों के पानी की जांच
समिति भवन में आयोजित पेयजल स्वच्छता बैठक में आए पंचायत प्रधान।

सिटी रिपोर्टर|ठियोग

पेयजल स्त्रोतों की सफाई व पानी की जांच के लिए चलाए जाने वाले 100 दिन के स्वच्छता अभियान को लेकर खंड विकास कार्यालय ठियोग के बचत भवन में सोमवार को पंचायत प्रधानों व आईपीएच विभाग के अधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता खंड विकास अधिकारी आर एल चौहान ने की। ठियोग, मतियाना और सैंज आईपीएच उपमंडल कार्यालयों के अधिकारी भी बैठक में शामिल हुए। बैठक में पंचायत प्रधानों को उनकी पंचायतों में चलने वाले जल स्त्रोतों, टैंकों आदि की सफाई व पानी की जांच के बारे में अवगत करवाया गया।

इस अभियान के तहत गावों में निजी व सरकारी टैंकों की सफाई की जाएगी। पानी के भंडारण टैंकों में क्लोरीन, ब्लीचिंग पाउडर आदि डालने का कार्य भी किया जाएगा। अभियान के दौरान आईपीएच विभाग में तैनात खंड समन्वयकों को बीडीओ ने हर पंचायत में शिविर लगाकर पेयजल स्त्रोतों की स्वच्छता बारे जागरूक करने के निर्देश दिए। साथ ही लगाई जाने वाली कार्यशालाओं की तिथियों को निर्धारण करने को कहा गया। इस प्रकार की सभी गतिविधियों से खंड कार्यालय को भी अवगत करवाया जाएगा। कई प्रधानों ने उनकी पंचायतों में पुराने बने टैंकों के फटे होने की शिकायत की। पंचायत प्रधानों का कहना था कि कई पेयजल योजनाओं में पानी के स्त्रोत नालों खड्डों में बने हैं जहां फिल्टर की सुविधा नहीं है। इस कारण पानी गंदा की लोगों के घरों व टैंकों में पहुंचता है। प्रधानों ने विभाग को सुझाव दिया कि पानी की योजनाओं में फिल्टर सुविधा सुचारू होनी चाहिए।

हर पंचायत से दो स्वयंसेवक प्रशिक्षित होंगे

खंड विकास अधिकारी ने बताया कि पेयजल स्वच्छता कार्यक्रम के लिए हर पंचायत से दो दो स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित करवाकर खंड कार्यालय उन्हें प्रमाणपत्र देगा। ये स्वयंसेवक आने वाले दिनों में अपनी अपनी पंचायत में पानी के सभी सरकारी व निजी स्त्रोतों की जांच करेंगे।

X
पंचायत स्तर पर होगी पेयजल स्रोतों के पानी की जांच
Click to listen..