Hindi News »Himachal »Thiyog» चियोग की धलेऊ दलित बस्ती में पेयजल समस्या हल करने की सिंचाई जनस्वास्थ्य मंत्री से गुहार

चियोग की धलेऊ दलित बस्ती में पेयजल समस्या हल करने की सिंचाई जनस्वास्थ्य मंत्री से गुहार

ठियोग | कसुम्पटी विस क्षेत्र के तहत चियोग पंचायत की दलित बस्ती धलेऊ के ग्रामीणों ने इस गांव में कई वर्षों से चली आ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 20, 2018, 02:15 AM IST

ठियोग | कसुम्पटी विस क्षेत्र के तहत चियोग पंचायत की दलित बस्ती धलेऊ के ग्रामीणों ने इस गांव में कई वर्षों से चली आ रही पेयजल की समस्या को हल करने की गुहार प्रदेश के सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री से लगाई है। इस गांव के लोगों के अनुसार इस बस्ती के लोगों को काफी दूर से बावड़ियों नालों आदि से पानी पीठ पर ढोकर लाना पड़ता है। सूखे के कारण ये बावड़ियां और नाले आजकल सूख चुके हैं, जिस कारण गांव में पेयजल का गंभीर संकट पैदा हो गया है। ग्रामीणों के अनुसार इस गांव के लिए अलग से भंडारण टैंक बनाने की मांग ग्रामीण लंबे समय से विभाग से करते आ रहे हैं, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस गांव को मझरोई खड्ड से पानी आता है। उसका पानी भी गांव तक नहीं पहुंच रहा है। गांव के आत्माराम, केसरूराम, खेकोदेवी आदि के घरों को इस योजना से पानी कई सालों से नहीं मिला न नलका है न पाइपें ही बिछाई गई हैं।

कई सालों से बन रही उठाऊ योजना : पेयजल किल्लत से जूझ रहीं इस गांव की महिलाओं मीनाक्षी, संतोष, शारदा, रामकी कमला सोधा आदि ने बताया है कि इस गांव को नरछट खड्ड से चियोग ददास योजना से पानी मिलता है लेकिन यह उठाऊ पेयजल योजना कई सालों से निर्माणाधीन है लेकिन उसका कार्य अधर में लटका हुआ है। ग्रामीणों ने इस योजना को जल्द तैयार कर ग्रामीणों को पानी की देने की मांग विभाग से की है।

बिजली ट्रांसफार्मर लगाने का कार्य बाकी : आईपीएच विभाग के एसडीओ बसंत ठाकुर ने बताया कि नरछट खड्ड से बन रही चियोग ददास उठाऊ पेयजल योजना में धलेऊ गांव को जोड़ा गया है। इस योजना का निर्माण विभाग ने कर दिया है इसमें पंप हाऊस पर अब बिजली का ट्रांसफार्मर लगना बाकी है इस साल यह योजना विभाग की प्राथमिकता में है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Thiyog

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×