Hindi News »Himachal »Thiyog» न्यायालय में अवैध कब्जों के गलत आंकड़े दिए: कांग्रेस

न्यायालय में अवैध कब्जों के गलत आंकड़े दिए: कांग्रेस

जुब्बल कोटखाई मंडल कांग्रेस ने वन भूमि पर अवैध कब्जों के मामलों में भाजपा सरकार पर माननीय उच्च न्यायालय में गलत...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 02:10 AM IST

न्यायालय में अवैध कब्जों के गलत आंकड़े दिए: कांग्रेस
जुब्बल कोटखाई मंडल कांग्रेस ने वन भूमि पर अवैध कब्जों के मामलों में भाजपा सरकार पर माननीय उच्च न्यायालय में गलत आंकड़े पेश करने का आरोप लगाया है। शनिवार को ठियोग में आयोजित प्रैस कान्फ्रेंस में नवनियुक्त मंडल अध्यक्ष मोतीलाल देरटा, महासचिव प्रताप चौहान, खेतीहर मजदूर कांग्रेस के मंडल अध्यक्ष विक्रांत जनारथा ने कहा कि सरकार ने न्यायालय में सरकार ने बताया था कि इन गावों में 13 किसानों के पास 2800 बीघा वन भूमि है जिसपर अवैध कब्जा किया गया है। लेकिन जो स्टेटस रिपोर्ट दी गई है उसमें 40 से अधिक किसानों से 798 बीघा अवैध कब्जा हटाने का दावा किया गया है। कांग्रेस के अनुसार इससे साबित होता है कि सरकार ने न्यायालय में गलत आंकड़े पेश किए। कांग्रेस के अनुसार इनमें से 25 किसान ऐसे हैं जो जिनके पास नाममात्र की भूमि है ओर अधिकतर दलित हैं।

एसआईटी पर सवाल : मंडल कांग्रेस ने सरकार की गठित एसआईटी पर भी सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि सरकार के दावे को साबित करने के लिए बीपीएल व गरीब किसानों को भी नहीं बख्शा जा रहा है जिनके पास नाममात्र की भूमि है। कई किसानों के मामले विभिन्न न्यायालयों में विचाराधीन हैं उन्हें भी नहीं बख्शा जा रहा है।

मंडल के अनुसार पूर्व कांग्रेस सरकार के समय भूमिहीनों को पांच बीघा तक भूमि देने की नीति के न्यायालय के अंतरिम आदेश का भी पालन सरकार नहीं कर रही है।

वन भूमि के दायरे में नहीं आती कुछ भूमि : मंडल के अनुसार बरथाटा,पहाड़ व भड़ाल आदि गावों में कुछ भूमि वन भूमि में नहीं आती है। यहां कुछ किसानों के बाद सीलिंग से पहले से भूमि पर कब्जा है लेकिन एसआईटी किसानों को धारा 163 के तहत अपना पक्ष रखने की अनुमति भी नहीं दे रही है।

आंदोलन की चेतावनी : मंडल कांग्रेस ने कहा है कि यदि क्षेत्र में एसआईटी के अधिकारियों पर सरकार ने लगाम नहीं लगाई तो कांग्रेस इसे लेकर आंदोलन करने पर विवश होगी।

छोटे किसानों बागवानों पर इस कार्रवाई से बेरोजगारी बढ़ेगी, अराजकता फैलेगी और किसान आत्महत्या पर विवश होंगे। कांग्रेस के अनुसार एसआईटी को पूरी छानबीन व किसानों का पक्ष सुनने के बाद की कार्रवाई करनी चाहिए।

शनिवार को ठियोग में पत्रकारों से बात करते मंडल कांग्रेस अध्यक्ष व पदाधिकारी।

विधायक पर मूकदर्शक बनने का आरोप

मंडल ने क्षेत्र के विधायक व पूर्व बागवानी मंत्री नरेन्द्र बरागटा भी इस मामले में मूकदर्शक बनने का आरोप लगाया है। आदर्श क्षेत्र बनाने के दावों के बीच पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी बना हुआ है और किसान बागवान भयग्रस्त हैं। मंडल कांग्रेस ने प्रदेश सरकार से इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करने की मांग की है और जिन किसान बागवानों के पास पांच बीघा से कम भूमि थी और उनके बगीचे कट चुके हैं उनके लिए मुआवजे की मांग की है।

भाजपा पर आरोप :कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर सेब बहुल क्षेत्र से द्वेष रखने का आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा के कई बड़े नेताओं के बयानों से यह साबित होता है। सरकार भूमिहीन किसानों को भी राहत के पक्ष में नहीं है। 50 हजार से अधिक सेब काटे जा चुके हैं जबकि एक पौधे को फलदार बनने में 20 साल लगते हैं। छोटे किसानों बागवानों के लिए नीति बनाने के पिछली कांग्रेस सरकार के प्रयासों पर भी वर्तमान भाजपा सरकार कुछ नहीं कर रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Thiyog

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×