थियोग

--Advertisement--

भाजपा की बैठक के बाहर छाया रहा वर्कर्स की उपेक्षा का मुद्दा

ठियोग मंडल भाजपा की दो दिन की आवासीय बैठक के समापन पर शनिवार को केन्द्र की मोदी व प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार की...

Dainik Bhaskar

Apr 29, 2018, 02:10 AM IST
भाजपा की बैठक के बाहर छाया रहा वर्कर्स की उपेक्षा का मुद्दा
ठियोग मंडल भाजपा की दो दिन की आवासीय बैठक के समापन पर शनिवार को केन्द्र की मोदी व प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार की उपलब्धियों को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया। जिला प्रभारी बिहारीलाल ने मंडल कार्यकर्ताओं संबोधित करते हुए 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर तैयारियां शुरू करने की अपील की। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश को प्रधानमंत्री मोदी के रूप में ऐसा नेतृत्व दिया है जो दुनिया में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ा रहे हैं। आज बड़े से बड़े देश के साथ भारत आंख मिलाकर बात कर रहा है। उन्होंने कहा कि देश को भ्रष्टाचार मुक्त व स्वच्छ बनाने के अलावा किसानों व ग्रामीण क्षेत्रों के विकास की बात हो रही है।

जयराम सरकार के 100 दिनों की प्रशंसा : मंडल ने प्रस्ताव पारित कर प्रदेश में जयराम ठाकुर के 100 दिनों के कार्यकाल में हर वर्ग के लिए किए गए कामों की प्रशंसा की। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं से आने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर सुझाव लिए गए और इन चुनावों में पार्टी की ओर से उठाए जाने वाले मुद्दों पर भी चर्चा की गई।

बैठक के अंतिम दिन मंडल अध्यक्ष दीपराम वर्मा, मंडल उपाध्यक्ष सतप्रकाश वर्मा, महिला मोर्चा अध्यक्षा अनिता वर्मा, भाजयुमो अध्यक्ष कमलेश शर्मा, अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष दिलाराम मेहता, विभिन्न मंडल पदाधिकारी, मोर्चों के पदाधिकारियों के अलावा नप अध्यक्षा शांता शर्मा, पार्षद शीला वर्मा, वंदना सूद सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे। बैठक में संख्या कम रही जिसपर प्रभारी ने बताया कि सूची के अनुसार 70 प्रतिशत लोग शामिल थे।

ठियोग मंडल की दो दिवसीय आवासीय बैठक के अंतिम दिन जिला प्रभारी व अन्य पदाधिकारी।

भितरघातियों को तरजीह पर आपत्ति

बैठक के दूसरे दिन राकेश वर्मा बैठक में नहीं आए। बैठक से पहले मंडल के कई पदाधिकारियों व वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने प्रभारी के समक्ष विस चुनावों में पार्टी के लिए कार्य करने वालों को सरकार में तरजीह मिलने का मुद्दा उठाया। उनके अनुसार इससे विस चुनावों में पार्टी प्रत्याशी के लिए रातदिन काम करने वालों का मनोबल गिर रहा है। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि ठियोग में कांग्रेस व माकपा से जुड़े लोगों के काम प्राथमिकता पर हो रहे हैं जबकि भाजपा से जुड़े लोग उपेक्षित हैं। कार्यकर्ताओं का कहना था कि मंडल ने जिन कार्यकर्ताओं पर अनुशासन की कारवाई को लेकर सरकार व पार्टी को लिखा है उन्हें पद दिए जा रहे हैं। इसपर जिला प्रभारी ने कहा कि राकेश वर्मा को सरकार के पास जाकर अपने लोगों के काम करवाने चाहिए। उन्हें भले की हार मिली है लेकिन 23 हजार मतदाताओं ने उन्हें वोट दिया है। पार्टी व सरकार में उनका सम्मान कम नहीं हुआ है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को निराशा का भाव छोड़कर भाजपा विचारधारा के लिए काम करने का आह्वान किया।

X
भाजपा की बैठक के बाहर छाया रहा वर्कर्स की उपेक्षा का मुद्दा
Click to listen..