Hindi News »Himachal »Thiyog» बर्षा सेे गिरी खड्ड में आई गाद, सप्लाई बाधित

बर्षा सेे गिरी खड्ड में आई गाद, सप्लाई बाधित

ठियोग| पिछले तीन दिनों से ठियोग क्षेत्र में हो रही बारिश के कारण क्षेत्र की खड्डों व नालों में गाद भर गई हैँ। इस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 12, 2018, 02:15 AM IST

ठियोग| पिछले तीन दिनों से ठियोग क्षेत्र में हो रही बारिश के कारण क्षेत्र की खड्डों व नालों में गाद भर गई हैँ। इस कारण इन खड्डों में बनी उठाऊ पेयजल योजनाओं से पानी पंप नहीं हो पा रहा है। ठियोग में पिछले तीन दिनों से गिरी खड्ड ठियोग उठाऊ पेयजल योजना के गाद के कारण ठप्प होने से नगर के कई वार्डों में लोगों को नलों में पानी नहीं आ रहा है। गिरी के अलावा अन्य खड्डों में भी बारिश के कारण गाद आ रही है। मंगलवार व बुधवार को ठियोग, कोटखाई मतियाना, घूंड व आसपास के इलाकों में भारी बारिश हुई। बुधवार को सुबह सात बजे से शाम तक बारिश होती रही।

उधर बुधवार को सुबह से हो रही बारिश के कारण ठियोग क्षेत्र में तापमान बेहद नीचे आ गया है। इससे ऊंचाई वाले सेब क्षेत्रों में पौधों पर आए फूलों को नुकसान हो रहा है। ठियोग के निचले इलाकों में अर्ली वैराईटी के सेब में सैटिंग हो चुकी है लेकिन मध्यम व ऊंचाई वाले इलाकों में आजकल फ्लावरिंग के समय में ठंड व बारिश से बागवानों आने वाली फसल को लेकर चिंता व्याप्त है। बागवानों के अनुसार नमी के बाद यदि अच्छी धूप निकली तो अधिक फर्क नहीं पड़ेगा। सेब की सैटिंग के समय तापमान 18 से 22 डिग्री के बीच अच्छा माना जाता है लेकिन बुधवार दिन को ठियोग का तापमान 6 डिग्री तक नीचे आ गया था।

उधर ठियोग में किसानों का एक बड़ा हिस्सा बैमौसमी सब्जियों की खेती करता है जिनके लिए यह बारिश काफी लाभदायक सिद्ध हो रही है। खेतों में पर्याप्त नमी हो गई है। गर्मियों के लिए आसपास के स्त्रोतों में पानी आ गया है और मटर, गोभी आदि की फसलों को भी बारिश से लाभ हो रहा है।

बुधवार की व्यापक बारिश के कारण ठियोग में कई ग्रामीण कच्ची सड़कों की हालत खस्ता हो गई है। इसके अलावा सरोग, भेखलटी मशोबरा, नरैल धर्मपुर, केलवी आदि विभाग की सड़कों में भी गड्डों में पानी भरा होने के कारण वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। भेखलटी लगाल सड़क की हालत भी बारिश के बाद खस्ता हो गई है।

सूखे स्त्रोतों में आई नई जान

उधर इस बारिश से ठियोग क्षेत्र के सूखते जल स्त्रातों में फिर से जान आ गई है। सर्दियों में कम बारिश के कारण क्षेत्र की कई पंचायतों में गंभीर पेयजल संकट पैदा हो गया था। बुधवार को पूरे क्षेत्र में व्यापक बारिश होने से पेयजल संकट का सामना करने वाली पंचायतों बणी, मझार, सरोग, धमांदरी आदि के लोगों ने राहत की सांस ली है। सूखने की कगार पर पहुंच गई सभी खड्डें पानी से भर गई हैं। लोगों के जल भंडारण टैंक भी इस बारिश से लबालब भर गए हैं जिससे आने वाली गर्मियों के मौसम में लोगों को काफी राहत मिलने की उम्मीद है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Thiyog

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×