--Advertisement--

कोटखाई में काटे जा चुके हैं 17 हजार से अधिक सेब के पौधे

ठियोग वन मंडल के तहत ठियोग तहसील व देहा सब तहसील में वन भूमि पर अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई जारी है। ठियोग...

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 02:20 AM IST
ठियोग वन मंडल के तहत ठियोग तहसील व देहा सब तहसील में वन भूमि पर अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई जारी है। ठियोग तहसील में 12 और देहा सब तहसील के तहत 133 मामलों में अवैध कब्जे छुड़ाने के आदेश न्यायालय की ओर से हो चुके हैं। इसके तहत लगभग एक हजार बीघा वन भूमि खाली करवाई जानी है। राजस्व विभाग पुलिस व वन विभाग की गठित टीमों ने अब तक ठियोग व देहा में कुल मिलाकर 250 बीघा से अधिक भूमि पर अवैध कब्जों को हटा दिया है और यह भूमि वन विभाग को सौंप दी है। अवैध कब्जों के इन सभी मामलों में पांच बीघा से अधिक भूमि पर कब्जा करने वालों पर कार्रवाई हो रही है।

ठियोग वन मंडल में ठियोग, देहा और कोटखाई तीन वन रेंज आती हैं। इनमें सबसे अधिक वन भूमि पर अवैध कब्जे कोटखाई रेंज में उसके बाद देहा और सबसे कम ठियोग वन रेंज में हैं। अधिकारियों के अनुसार ठियोग में पांच बीघा या उससे अधिक वन भूमि पर कब्जे के मामले काफी कम हैं।

कोटखाई में 540 बीघा पर कब्जे छुड़ाए

ठियोग वन मंडल के तहत कोटखाई तहसील में भी राजस्व विभाग ने 540 बीघा भूमि से कब्जे हटा दिए हैं। नायब तहसीलदार विपिन वर्मा ने बताया कि न्यायालय से निर्णय हो चुके पांच बीघा से अधिक अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई जारी है। अब तक इस तहसील में 17200 सेब के पेड़ काटे जा चुके हैं। कोटखाई में 5 बीघा से अधिक अवैध कब्जों के 81 मामले हैं जिन्हें खाली करवाने के आदेश हो चुके हैं।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..