Hindi News »National »Latest News »National» Venkaiah Naidu Fooled By Misleading Weight Loss Ads

फर्जी विज्ञापन के जाल में फंस चुके हैं वैंकेया, चुकाने पड़े थे 1230 रुपए; राज्यसभा में उठाया मुद्दा

समाजवादी पार्टी सांसद नरेश अग्रवाल ने जीरो ऑवर के दौरान उठाया था भटकाने वाले विज्ञापनों पर सवाल।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 29, 2017, 05:57 PM IST

  • फर्जी विज्ञापन के जाल में फंस चुके हैं वैंकेया, चुकाने पड़े थे 1230 रुपए; राज्यसभा में उठाया मुद्दा, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    राज्यसभा में वैंकेया नायडू ने बताया नकली विज्ञापन से जुड़ा एक मामला।

    नई दिल्ली.राज्यसभा में शुक्रवार को सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने गुमराह करने वाले विज्ञापनों का मुद्दा उठाया। इस पर सभापति वेंकैया नायडू ने चिंता जताई। उन्होंने बताया कि ऐसे विज्ञापनों के लिए कंज्यूमर अफेयर मिनिस्ट्री को लेटर लिखा है। ये विज्ञापन असलियत से कोसों दूर होते हैं। उपराष्ट्रपति ने एक वाकये का जिक्र करते हुए सदन को बताया, “मैंने भी 28 दिन में वेट लॉस करने का ऐड देखा और प्रोडक्ट ऑर्डर किया था। इसकी कीमत 1230 रुपए थी। जब पैकेट खोला तो उसमें असली दवा मंगाने के लिए 1 हजार रुपए और पेमेंट के लिए कहा गया। इसके बाद, जानकारी जुटाई तो पता चला कि ये सब अमेरिका से हो रहा है।”

    नरेश अग्रवाल ने उठाया था सवाल

    - जीरो ऑवर में सांसद नरेश अग्रवाल ने भ्रम फैलाने वाले विज्ञापन और खाने-पीने की चीजों में मिलावट का मुद्दा उठाया। उन्होंने मांग की कि ऐसी चीजों पर शिकंजा कसा जाए।

    पासवान ने राज्यसभा में दिया जवाब

    - इसके बाद कंज्यूमर अफेयर मिनिस्टर रामविलास पासवान ने जवाब देते हुए कहा कि कंज्यूमर अफेयर प्रोटेक्शन एक्ट 31 साल पुराना है और इसे बदलने की जरूरत है।

    - उन्होंने कहा, “हमने इसके लिए नया बिल लोकसभा में पेश किया था, लेकिन उसको स्टैंडिंग कमेटी के पास भेज दिया गया। हमने कमेटी के सुझाव बिल में शामिल कर लिए हैं। इसे कैबिनेट की भी मंजूरी मिल गई है। जल्द ही बिल को संसद में पेश करेंगे।''

    सदन की शुरुआत में वैंकेया ने सांसदों को दी सलाह

    - सभापति वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को ही मेंबर्स से अंग्रेजों के वक्त से चली आ रही परंपरा को बदलने की बात कही। उन्होंने मेंबर्स से कहा- "आई बेग टू ले द पेपर्स..."(मैं पेपर्स को सदन के पटल पर रखने की विनती करता हूं) जैसी शब्दावली का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसके बजाए उन्हें सीधे कहना चाहिए कि मैं सदन के पटल पर पेपर्स रख रहा हूं।''

  • फर्जी विज्ञापन के जाल में फंस चुके हैं वैंकेया, चुकाने पड़े थे 1230 रुपए; राज्यसभा में उठाया मुद्दा, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    वेट लॉस के नकली विज्ञापन के चक्कर में वैंकेया के साथ हो चुकी है 1230 रुपए की ठगी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×