2 महीने में 22 मौतें: केंद्र ने कहा-भीड़ की हिंसा पर रोक लगाएं राज्य

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सोशल मीडिया पर अफवाहों के चलते होने वाली भीड़ की हिंसा पर रोक लगाने के उपाय करने को कहा है। मंत्रालय ने इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकारों को एडवाइजरी जारी कर इन पर अंकुश लगाने को कहा है। इसमें कहा है कि सभी राज्य अफवाहों पर नजर रखें और इन पर अंकुश के लिए जरूरी कदम उठाएं। जिला प्रशासन को संवेदनशील और इस तरह की घटना की आशंका वाले क्षेत्रों का पता लगाने का निर्देश दें।

 

दो माह में हिंसक भीड़ ने 22 जिंदगियां खत्म कीं : वाट्सएप के जरिये फैली अफवाहों के कारण देश भर में दो महीने में भीड़ द्वारा पिटाई की घटनाओं में 22 से ज्यादा लोग मारे गए। महाराष्ट्र के धुले में उग्र भीड़ ने पांच लोगों को रविवार को बच्चा चोर गिरोह के सदस्य होने के संदेह में पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी वॉट्सएेप पर अफवाह के बाद भीड़ ने इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया। त्रिपुरा में मुंबई के साउंड इंजीनियर सहित दो लोगों को मार डाला गया। झारखंड, असम, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में भी ऐसी घटनाएं हुई हैं।  

 

मणिपुर दो लोगों पर हमले :  मणिपुर में बच्चा चोर और नरभक्षी होने के संदेह में दो अलग-अलग घटनाओं में स्थानीय नागरिकों ने दो लोगों पर हमले कर दिए। पुलिस ने दोनों को बचाया और सुरक्षित जगह पर पहुंचाया है।

खबरें और भी हैं...