Hindi News »National »Latest News »National» Indian Medical Association Protest Against NMC Bill May Hit Services In Private Hospitals

नेशनल मेडिकल बिल के विरोध में कल देशभर में स्ट्राइक पर रहेंगे डॉक्टर्स, इमरजेंसी सेवाओं पर नहीं पड़ेगा असर

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के विरोध के बाद कल सरकारी के साथ प्राइवेट हॉस्पिटलों में भी रुक जाएंगी मेडिकल सेवाएं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 01, 2018, 08:57 PM IST

  • नेशनल मेडिकल बिल के विरोध में कल देशभर में स्ट्राइक पर रहेंगे डॉक्टर्स, इमरजेंसी सेवाओं पर नहीं पड़ेगा असर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    सरकार ने संसद में नेशनल मेडिकल कमीशन बिल पेश किया है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन इसका विरोध कर रही है। -फाइल

    नई दिल्ली. नई दिल्ली. नेशनल मेडिकल कमीशन बिल पार्लियामेंट की स्टैंडिंग कमेटी को भेजे जाने के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है। उसका कहना है कि वह कमेटी का फैसला आने तक हड़ताल नहीं करेगी। हालांकि, इससे पहले एसोसिएशन की अगुआई में देशभर के सरकारी और प्राइवेट डॉक्टर्स मंगलवार को दोपहर बाद तक हड़ताल पर रहे।

    क्या है मामला?

    - नेशनल मेडिकल कमीशन बिल शुक्रवार को संसद में पेश किया था। केंद्र सरकार इसके जरिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की जगह नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) बनाना चाहती है। आईएमए इसका विरोध कर रही है।

    बिल से और क्या बदलाव होगा?

    इस बिल में अल्टरनेटिव मेडिसिन (होम्योपैथी, आयुर्वेद, यूनानी) की प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों के लिए एक ब्रिज कोर्स का प्रप्रोजल है। इसे करने के बाद वे मॉडर्न मेडिसिन की प्रैक्टिस भी कर सकेंगे।

    बिल का विरोध क्यों कर रहा आईएमए?
    - आईएमए के पूर्व प्रेसिडेंट केके अग्रवाल के मुताबिक, "इस बिल में ऐसे प्रोविजन्स हैं, जिससे आयुष डॉक्टर्स को भी मॉडर्न मेडिसिन प्रैक्टिस करने की परमिशन मिल जाएगी। जबकि इसके लिए कम से कम एमबीबीएस क्वालिफिकेशन होनी चाहिए। इससे नीम-हकीमी करने वाले भी डॉक्टर बन जाएंगे।"

    - डॉक्टर अग्रवाल का दावा है कि इस बिल में प्राइवेट कॉलेजों को मनमाने तरीके से फीस वसूलने की छूट दी गई है।

    क्या है मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया?
    - इंडियन मेडिकल एसोसिएशन देशभर के मेडिकल प्रोफेशनल्स की रिप्रेंजेटेटिव बॉडी है। देश का कोई भी रजिस्टर्ड डॉक्टर इसका चुनाव लड़ सकता है और अपना लीडर चुनने के लिए वोट कर सकता है।

    क्या नेशनल मेडिकल कमीशन में भी इलेक्शन का ऑप्शन है?
    - नहीं, इसमें गवर्नमेंट द्वारा चुने गए चेयरमैन और मेंबर्स रखे जाएंगे। इसके अलावा बोर्ड मेंबर्स को कैबिनेट सेक्रेटरी के अंडर में काम करने वाली सर्च कमेटी चुनेगी।

  • नेशनल मेडिकल बिल के विरोध में कल देशभर में स्ट्राइक पर रहेंगे डॉक्टर्स, इमरजेंसी सेवाओं पर नहीं पड़ेगा असर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया देशभर के मेडिकल प्रोफेशनल्स की रिप्रेंजेटेटिव बॉडी है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×