देश

--Advertisement--

मुंबई एयरोपोर्ट के एयरपोर्ट पर फ्लाइट में बम होने की झूठी कॉल की, US की फर्म का CEO अरेस्ट

पुलिस ने घटना की जांच की तो सीसीटीवी फुटेज में एक शख्स नजर आया।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 04:53 PM IST
मुंबई एयरपोर्ट के टोलफ्री नंबर पर फ्लाइट में बम होने की कॉल की गई, जो झूठी निकली। - फाइल मुंबई एयरपोर्ट के टोलफ्री नंबर पर फ्लाइट में बम होने की कॉल की गई, जो झूठी निकली। - फाइल

मुंबई. US की IT कंपनी के CEO ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बम होने की झूठी कॉल की। पुलिस ने घटना की जांच की तो सीसीटीवी फुटेज में एक शख्स नजर आया। पुलिस ने विनोद मूरजानी नाम के इस शख्स को अरेस्ट किया, जो US बेस्ड फर्म का CEO था। जांच में पता चला कि ये शख्स मुंबई से दिल्ली जाने वाली फ्लाइट्स में देरी कराना चाहता था, ताकि वो देर रात दिल्ली एयरपोर्ट से रोम जाने वाली कनेक्टिंग फ्लाइट में सवार हो सके। हालांकि, विनोद मूरजानी का दावा है कि उसने कॉल फ्लाइट की जानकारी लेने के लिए की थी, लेकिन ऑपरेटर ने मतलब गलत समझ लिया।

कब की गई थी कॉल?
- एयरपोर्ट अफसर के मुताबिक, "रविवार को विनोद को मुंबई से दिल्ली के लिए जाना था। उसे दिल्ली से रोम के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट लेनी थी। विनोद के साथ उसकी पत्नी और बच्चे भी थे और उसने फ्लाइट डिले करवाने के लिए कॉल की थी।"

कॉल में क्या कहा?
- अफसर ने बताया, "विनोद ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टोलफ्री नंबर पर कॉल की और कहा कि "फ्लाइट में बम फटा है।' महिला ऑपरेटर उसका नाम पूछ पाती तब तक विनोद ने फोन डिसकनेक्ट कर दिया। ऑपरेटर ने इसकी इन्फर्मेशन अपने सीनियर को दी और फिर पुलिस को कॉल की जानकारी दी गई।"

किस तरह पकड़ में आया शख्स?
- अफसर ने बताया, "पुलिस ने कॉल की जानकारी मिलने के बाद मुंबई एयरपोर्ट के सीसीटीवी फुटेज जांचे। इस दौरान विनोद एक टेलिफोन बूथ में दिखाई पड़ा। इसके बाद पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया। उसके खिलाफ IPC के सेक्शन 506(II) और 505 (I)(b) के तहत केस दर्ज किया गया। विनोद को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे बेल दे दी गई।"

इस तरह की कॉल क्यों की?
- एयरपोर्ट ऑफिशियल के मुताबिक, "विनोद दिल्ली जाने वाली फ्लाइट्स डिले करवाना चाहता था। उसने कॉल इसीलिए की थी कि मुंबई में फ्लाइट लेट हो जाए तो भी वो दिल्ली से लेट नाइट रोम जाने वाली कनेक्टिंग फ्लाइट ले सके।"

CEO ने क्या दावा किया?
- विनोद मूरजानी के वकील ने कोर्ट में दावा किया कि उनके क्लाइंट ने फ्लाइट का स्टेटस जानने के लिए कॉल की थी, लेकिन उसका गलत मतलब निकाल िलया गया।
- वकील ने कहा, "विनोद ने ऑपरेटर से BOM-DEL स्टेटस पूछा था और टेलिफोन लाइन में दिक्कतों के चलते जल्द ही कॉल िडस्कनेक्ट कर दी थी। टेलिफोन ऑपरेटर ने इसे "बॉम्ब है' समझ लिया।"

सीसीटीवी जांच की गई तो टेलिफोन बूथ में नजर आया कॉल करने वाला शख्स। - सिम्बॉलिक इमेज सीसीटीवी जांच की गई तो टेलिफोन बूथ में नजर आया कॉल करने वाला शख्स। - सिम्बॉलिक इमेज
X
मुंबई एयरपोर्ट के टोलफ्री नंबर पर फ्लाइट में बम होने की कॉल की गई, जो झूठी निकली। - फाइलमुंबई एयरपोर्ट के टोलफ्री नंबर पर फ्लाइट में बम होने की कॉल की गई, जो झूठी निकली। - फाइल
सीसीटीवी जांच की गई तो टेलिफोन बूथ में नजर आया कॉल करने वाला शख्स। - सिम्बॉलिक इमेजसीसीटीवी जांच की गई तो टेलिफोन बूथ में नजर आया कॉल करने वाला शख्स। - सिम्बॉलिक इमेज
Click to listen..