• Home
  • National
  • Rahul Gandhi takes jibe at Narendra Modi supporters smart cities mission
--Advertisement--

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर राहुल गांधी का तंज, बोले- मोदी भक्तों, इसका सिर्फ 7% बजट खर्च हुआ

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह कमेंट सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी योजना पर जारी आंकड़ों के बाद ही आया है।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 01:46 PM IST
राहुल ने कहा- डियर मोदी भक्तों, चीन हमें कॉम्पटीशन से बाहर कर रहा है और आपके मालिक खोखले नारे दे रहे हैं।- फाइल राहुल ने कहा- डियर मोदी भक्तों, चीन हमें कॉम्पटीशन से बाहर कर रहा है और आपके मालिक खोखले नारे दे रहे हैं।- फाइल

नई दिल्ली. राहुल गांधी ने रविवार को केंद्र सरकार के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट पर तंज कसा। उन्होंने चीन का भी जिक्र किया। कहा- चीन ने तो हमें कॉम्पटीशन से ही बाहर कर दिया है। कांग्रेस प्रेसिडेंट ने अपने ट्वीट के साथ चीन का एक वीडियो लिंक भी शेयर किया। राहुल ने कहा- डियर मोदी भक्तों, चीन हमें कॉम्पिटीशन से बाहर कर रहा है और आपके मालिक खोखले नारे दे रहे हैं। यह वीडियो देखें और उन्हें सलाह दें कि भारत में रोजगार पर ध्यान दें।

सरकार ने जारी किए थे आंकड़े

- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह कमेंट सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी योजना पर जारी आंकड़ों के बाद ही आया है।
- इस आंकड़े के मुताबिक, अब तक प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट पर बहुत कम काम किया गया है। इसके लिए जो बजट अलॉट किया गया है, उसका भी बेहद कम इस्तेमाल अब तक किया जा सका है।
- हाउसिंग और अर्बन मिनिस्ट्री के डाटा के मुताबिक, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए 60 शहरों को 9,860 करोड़ रुपए जारी किए गए थे। इसका सिर्फ 7 फीसदी यानी करीब 645 करोड़ रुपए ही अब तक इस्तेमाल किए गए हैं।

राहुल ने क्या कहा?

- राहुल गांधी ने रविवार सुबह ट्वीट किया। इसमें कहा- डियर मोदी भक्तों। स्मार्ट सिटी के लिए 9,860 करोड़ रुपए जारी किए गए थे। लेकिन, इसमें से सिर्फ 7 फीसदी का ही इस्तेमाल किया गया है। चीन हमसे कॉम्पिटीशन कर रहा है। जबकि, आपके मालिक हमें सिर्फ खोखले नारे दे रहे हैं। यह वीडियो देखिए और उन्हें भारत में रोजगार के मौके पैदा करने पर फोकस करने की सलाह दीजिए।
- राहुल ने एक डॉक्यूमेंट्री शेन्झेन: द सिलिकॉन वैली ऑफ हार्डवेयर का लिंक भी शेयर किया है।

इन फैसिलिटीज से लैस होंगी स्मार्ट सिटी

- वर्ल्‍ड क्‍लास ट्रांसपोर्ट सिस्टम।
- 24 घंटे बिजली-पानी की सप्लाई।
- सरकारी कामों के लिए सिंगल विंडो सिस्टम।
- एक जगह से दूसरे जगह तक 45 मिनट में जाने की व्यवस्था।
- स्मार्ट एजुकेशन।
- एन्वायरन्मेंट फ्रेंडली।
- बेहतर सिक्युरिटी और एंटरटेनमेंट की फैसिलिटीज।

बजट में हुआ था एलान

- स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सबसे पहले मोदी सरकार के पहले बजट में घोषणा की गई थी।
- बजट में 7060 करोड़ रुपए का फंड भी अलॉट किया गया था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह कमेंट सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी योजना पर जारी आंकड़ों के बाद ही आया है। इस आंकड़े के मुताबिक, अब तक प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट पर बहुत कम काम किया गया है।- फाइल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह कमेंट सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी योजना पर जारी आंकड़ों के बाद ही आया है। इस आंकड़े के मुताबिक, अब तक प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट पर बहुत कम काम किया गया है।- फाइल