--Advertisement--

7.5 करोड़ राजपूतों का 15 राज्यों में असर, निहलानी बोले- पद्मावती में वोट बैंक की पॉलिटिक्स हुई

सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को 26 कट और नाम बदलकर रिलीज करने का सुझाव दिया है।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 04:58 PM IST
पूर्व सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने बोर्ड के कामकाज पर सवाल उठाए हैं। -फाइल पूर्व सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने बोर्ड के कामकाज पर सवाल उठाए हैं। -फाइल

नई दिल्ली. सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को 26 कट और नाम बदलकर रिलीज करने का सुझाव दिया है। इस पर सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने शनिवार को वोट बैंक की राजनीति का आरोप लगाया। उनका कहना है कि पद्मावती को लेकर बोर्ड चीफ पर काफी दबाव था कि इसे इलेक्शन के बाद रिलीज किया जाए। देशभर में विरोध-प्रदर्शन के बीच बीजेपी की सत्ता वाले 7 राज्यों ने फिल्म की रिलीज रोकने की बात कही थी। दरअसल, इसके बहाने राजनीतिक दलों ने राजपूतों की राजनीति की। 7.5 करोड़ राजपूत देश के 15 बड़े राज्यों में 450-500 विधानसभा सीटों पर असर डालते हैं। इसीलिए चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां फिल्म के खिलाफ खुलकर बोलीं।

पद्मावती को लेकर सेंसर बोर्ड पर सवाल उठे

- सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने कहा, ''सेंसर बोर्ड ने फिल्म को साइडलाइन कर दिया था, इससे बोर्ड के काम करने के तौर-तरीके पर सवाल उठते हैं। अब इतने कट लगाने के बाद प्रोड्यूसर्स को बड़े घाटे का सामना करना होगा।''
- ''दूसरी ओर, फिल्म को लेकर वोट बैंक की पॉलिटिक्स भी हुई। हाल के इलेक्शन के बाद अब फिल्म रिलीज होगी। बोर्ड के चेयरमैन के ऊपर मंत्रालय का बहुत ज्यादा दबाव था। फिल्म को लेकर बहुत विवाद हुआ। यह फैसला कई राज्यों में इसके विरोध के पहले भी लिया जा सकता था।''

इसलिए इन 4 राज्यों में लगी रोक?

1. गुजरात

- 17 से 18 जिलों में करीब 10% वोटर्स राजपूत हैं। 20 से 25 सीटों पर इनका असर है। राज्य में हाल ही में चुनाव हुए हैं।

2. यूपी

- 10 से 11% मतदाता राजपूत हैं। विवाद के वक्त राज्य में निकाय चुनाव चल रहे थे। 14 सांसद और 78 विधायक राजपूत हैं।

3. राजस्थान में अगले साल चुनाव

- राज्य में 8-10% राजपूत वोटर्स हैं। 2018 में चुनाव हैं। करीब 28 विधायक, तीन सांसद राजपूत हैं।

4. मध्य प्रदेश में भी अगले साल चुनाव

- 7 से 8% वोटर्स राजपूत हैं। करीब 40-45 सीटों पर राजपूत अहम। यहां 2018 में चुनाव हैं। 3 सांसद राजपूत हैं।

राजपूतों की देश में कितनी आबादी?

- देश में राजपूतों की आबादी करीब 7.5 करोड़ है, यानी कुल आबादी की 5%।

- देश के 29 में से करीब 15 राज्यों में राजपूत विधायक और सांसद हैं।

- सबसे ज्यादा 1.5 करोड़ राजपूत आबादी यूपी में है, यहां 100 सीटों पर अहम रोल।

राज्य राजपूत
उत्तर प्रदेश 1.5 करोड़
राजस्थान 65-70 लाख
मध्य प्रदेश 60-65 लाख
बिहार 50-55 लाख
गुजरात 40-45 लाख
उत्तराखंड 35-40 लाख
हिमाचल 25 लाख

सीएम से मंत्री तक, ये नेता हैं राजपूत समुदाय से

- सीएम आदित्यनाथ योगी, रमन सिंह, वीरभद्र सिंह, वसुंधरा राजे, त्रिवेंद्र सिंह रावत राजपूत समुदाय से हैं। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और जम्मू-कश्मीर के निर्मल सिंह भी राजपूत हैं।
- मोदी सरकार में 8 मंत्री राजपूत समुदाय से हैं।
- देश में अब तक चंद्रशेखर सिंह और विश्वनाथ प्रताप सिंह राजपूत पीएम थे। राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, उपराष्ट्रपति भैरो सिंह शेखावत राजपूत रहे हैं।

फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?

- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया।

- राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, रिलीज से पहले फिल्म पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाई जाए।

VIDEO: सेंसर बोर्ड ने दिया पद्मावती का नाम बदलने का सुझाव। VIDEO: सेंसर बोर्ड ने दिया पद्मावती का नाम बदलने का सुझाव।
X
पूर्व सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने बोर्ड के कामकाज पर सवाल उठाए हैं। -फाइलपूर्व सेंसर बोर्ड चीफ पहलाज निहलानी ने बोर्ड के कामकाज पर सवाल उठाए हैं। -फाइल
VIDEO: सेंसर बोर्ड ने दिया पद्मावती का नाम बदलने का सुझाव।VIDEO: सेंसर बोर्ड ने दिया पद्मावती का नाम बदलने का सुझाव।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..