Hindi News »National »Latest News »National» 4 More Airports Go Tag Free For Hand Baggage From Today

पुणे और गोवा समेत देश के 4 और एयरपोर्ट्स पर अब हैंड बैग टैगिंग नहीं होगी

देश में अब तक कुल 23 एयरपोर्ट्स पर टैगिंग खत्म की गई है। CISF 59 एयरपोर्ट्स पर इसे व्यवस्था को लागू करना चाहती है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 10, 2017, 07:55 PM IST

  • पुणे और गोवा समेत देश के 4 और एयरपोर्ट्स पर अब हैंड बैग टैगिंग नहीं होगी, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    CISF 59 डोमेस्टिक एयरपोर्ट्स पर यह टैगिंग खत्म करने जा रही है। - सिम्बॉलिक
    नई दिल्ली. CISF ने शुक्रवार को देश के चार और एयरपोर्ट्स पर पैसेंजर स्टैंपिंग और हैंड बैग टैगिंग खत्म कर दी। इन चार एयरपोर्ट्स में पुणे और गोवा भी शामिल हैं। अब तक 23 एयरपोर्ट्स पर यह टैगिंग खत्म की गई है। CISF 59 डोमेस्टिक एयरपोर्ट्स पर यह टैगिंग खत्म करने जा रही है। बता दें कि सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्युरिटी फोर्स यानी CISF के पास ही इन एयरपोर्ट्स की सिक्युरिटी का जिम्मा है।

    किन 4 एयरपोर्ट्स पर खत्म की गई टैगिंग

    - जिन चार शहरों के एयरपोर्ट्स पर हैंड बैग टैगिंग और स्टैंपिंग खत्म की गई है उनके नाम हैं- पुणे, गोवा, नागपुर और त्रिची (तिरुचिरापल्ली)। इन चारों एयपोर्ट्स पर सिक्युरिटी की जिम्मेदारी CISF के पास ही है।
    - देश में अब तक कुल 23 एयरपोर्ट्स पर टैगिंग खत्म की गई है। CISF 59 एयरपोर्ट्स पर इसे व्यवस्था को लागू करना चाहती है। टैगिंग खत्म करने का सिलसिला इसी साल अप्रैल में शुरू किया गया था। इसके लिए ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्युरिटी (BCAS) ने भी मंजूरी दी है।

    पहले फेज में इन एयरपोर्ट्स को मिली थी छूट

    - पहले फेज में सात एयरपोर्ट्स को हैंड बैग टैगिंग से छूट दी गई गई। ये थे- दिल्ली, मुंबई, कोचिन, बेंगलुरु, हैदराबाद और अहमदाबाद। दूसरे फेज में जयपुर, गुवाहाटी, लखनऊ, तिरुवनंतपुरम, पटना और चेन्नई एयरपोर्ट्स पर यह राहत दी गई।

    क्या होता है इन टैग्स से?

    - इन टैग्स पर पैसेंजर्स की कॉन्टैक्ट डिटेल होती है। एक्स-रे चेक के दौरान अगर किसी पैसेंजर के बैग में कुछ संदिग्ध पाया जाता है तो उस पैसेंजर से फौरन संपर्क कर उसे बुलाया जाता है। इसके बाद बैग्स को खोलकर चेक किया जाता है।

    ऐसा क्यों किया गया?

    - BCAS ने कहा था कि एयरपोर्ट्स पर अब पहले की तुलना में काफी बेहतर सर्विलांस सिस्टम हैं। इसके अलावा सीसीटीवी और ज्यादा ट्रैंड स्टाफ है। संदिग्ध चीजों पर ज्यादा बेहतर तरीके से नजर रखी जा सकती है।

    किनको नहीं मिलेगा फायदा?

    - नए प्रोटोकॉल का फायदा सिर्फ डोमेस्टिक पैसेंजर्स को होगा। लेकिन, इंटरनेशनल पैसेंजर्स के हैंड बैग्स पर पहले की तरह टैगिंग जारी रहेगी।

    सिर्फ भारत में होती है सिक्युरिटी टैगिंग

    - भारत में बैग्स पर सिक्युरिटी टैगिंग 1992 से हो रही है। ऐसा सिर्फ हमारे ही देश में होता है।
    - CISF ने भी कहा था, "सिक्युरिटी टैगिंग को ट्रायल बेस पर हटाया जा रहा है। इसका मकसद एयरपोर्ट पर पैसेंजर्स के लिए सिक्युरिटी प्रोसेस को आसान बनाना है।"
    - बता दें कि भारत 2020 तक एविएशन सेक्टर में दुनिया का सबसे बड़ा देश और 2030 तक टॉप पोजिशन पर रहने वाले देश होगा।
  • पुणे और गोवा समेत देश के 4 और एयरपोर्ट्स पर अब हैंड बैग टैगिंग नहीं होगी, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    जिन चार शहरों के एयरपोर्ट्स पर हैंड बैग टैगिंग और स्टैंपिंग खत्म की गई है उनके नाम हैं- पुणे, गोवा, नागपुर और त्रिची (तिरुचिरापल्ली)। - सिम्बॉलिक
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×