--Advertisement--

एनकाउंटर में 10 नक्सली ढेर, एक जवान शहीद; ग्रेहाउंड्स फोर्स ने छत्तीसगढ़ में 35 किमी अंदर घुसकर की कार्रवाई

ग्रेहाउंड्स फोर्स ने बीजापुर में नक्सली कैंप पर हमला किया। इसमें छत्तीसगढ़ पुलिस ने भी मदद की।

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:37 PM IST
तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सिक्युरिटी फोर्स ने मिलकर ऑपरेशन चलाया। दस बॉडी बरामद कर ली गई हैं। (फाइल) तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सिक्युरिटी फोर्स ने मिलकर ऑपरेशन चलाया। दस बॉडी बरामद कर ली गई हैं। (फाइल)

रायपुर/हैदराबाद. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शुक्रवार को एनकाउंटर में 6 महिला कमांडर समेत 10 नक्सली मारे गए। तेलंगाना पुलिस की ग्रेहाउंड्स फोर्स ने पड़ोसी राज्य की सीमा में 35 किमी अंदर घुसकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया। अफसरों की मानें तो कार्रवाई में कई बड़े नक्सली नेता ढेर हो गए। एक जवान शहीद और 3 जख्मी हुए हैं।


छत्तीसगढ़ पुलिस ने की मदद
- ग्रेहाउंड्स फोर्स ने बीजापुर में नक्सली कैंप पर हमला किया। इसमें छत्तीसगढ़ पुलिस ने भी मदद की। ग्रेहाउंड्स फोर्स, तेलंगाना-आंध्र प्रदेश की स्पेशल एंटी-नक्सल फोर्स है। फोर्स ने ये कार्रवाई एक इंटेलिजेंस रिपोर्ट के आधार पर की।
- एक अफसर ने बताया कि कार्रवाई में एक जवान शहीद हो गया। जो नक्सली मारे गए हैं, उनकी फिलहाल पहचान नहीं हो पाई है लेकिन उनमें कई बड़े नेता हो सकते हैं। मौके से एक AK-47, एक एसएलआर और 5 इंसास राइफल बरामद हुई है।

क्या बोले अफसर?

- बीजापुर के एसपी मोहित गर्ग के मुताबिक, "रायपुर से करीब 500 किमी दूर पुजारी कांकेर इलाके में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई।"
- "तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सिक्युरिटी फोर्स ने मिलकर ऑपरेशन चलाया। इसमें 10 नक्सली मारे गए। दस बॉडी बरामद कर ली गई हैं। कुछ ऑटोमैटिक हथियार भी बरामद हुए हैं। फिलहाल सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।"

कैसे हुआ ऑपरेशन?
- छत्तीसगढ़ पुलिस और ग्रेहाउंड्स फोर्स को जंगल में नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसको लेकर ऑपरेशन चलाया जा रहा था।
- इस दौरान फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की।
- माना जा रहा है कि तेलंगाना का नक्सली नेता हरिभूषण उर्फ जगन समेत कई टॉप नक्सली कमांडर इस ऑपरेशन में मारे गए।

4 साल में सबसे बड़ी कार्रवाई
- 2014 में तेलंगाना राज्य के गठन के बाद ये सबसे बड़ी कार्रवाई है।
- पिछले साल दिसंबर में पुलिस ने कोठागुडेम जिले में 8 नक्सली मार गिराए थे।
- 2005 में अविभाजित आंध्र प्रदेश में नक्सल आंदोलन तब शुरू हुआ था जब पुलिस ने बड़े पैमाने पर नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की थी और उनके टॉप कमांडरों को मार गिराया था।

फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की। (फाइल) फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की। (फाइल)
X
तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सिक्युरिटी फोर्स ने मिलकर ऑपरेशन चलाया। दस बॉडी बरामद कर ली गई हैं। (फाइल)तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की सिक्युरिटी फोर्स ने मिलकर ऑपरेशन चलाया। दस बॉडी बरामद कर ली गई हैं। (फाइल)
फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की। (फाइल)फोर्स ने नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी जवाबी कार्रवाई की। (फाइल)
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..