--Advertisement--

AAP कंट्रोवर्सी: कुमार बोले- पार्टी में वापसी के लिए प्रशांत-योगेंद्र से बात हो रही, केजरी के करीबियों ने दावा खारिज किया

कुमार विश्वास ने रविवार को पार्टी दफ्तर में देशभर से आए कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनीं।

Danik Bhaskar | Dec 04, 2017, 10:03 AM IST

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी में अरविंद केजरीवाल खेमे से नाराज चल रहे कुमार विश्वास ने रविवार को चौंकाने वाला दावा किया। उन्होंने कहा कि पार्टी से बर्खास्त हुए प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव जैसे नेताओं से वापसी पर बात चल रही है। हालांकि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के करीबी नेताओं ने कुमार के इस दावे को खारिज कर दिया। बता दें कि पार्टी के खिलाफ काम करने के आरोप में फाउंडर मेंबर्स में शामिल रहे दोनों नेताओं को अप्रैल, 2015 में आप से निकाला गया था। पिछले साल अक्टूबर में प्रशांत-योगेंद्र ने स्वराज इंडिया पार्टी बनाई थी।

AAP को एंटी वायरस की जरूरत है: विश्वास

- वॉलन्टियर्स से बातचीत में विश्वास ने कहा, "अगर कोई दूसरे दल में नहीं गया है और वापसी चाहता है, अगर किसी ने राजनीतिक दल बना लिया है और विलय चाहता है तो हो सकता है। लिस्ट बहुत लंबी है। सुभाष वारे से लेकर अंजलि दमानिया तक, मयंक गांधी, धर्मवीर गांधी से लेकर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव तक। ऐसे नेताओं के साथ बात वॉलन्टियर्स बात कर रहे हैं। अपनी गलतियों के लिए हम उनसे माफी मांग लेंगे।''
- कुमार ने पार्टी दफ्तर में कहा कि लड़ाई भीषण है। कई महारथी अभिमन्यु का वध करना चाहेंगे। पार्टी में कुछ एंटी वायरस लगाए जा रहे हैं। ये एंटी वायरस कार्यकर्ताओं के हैं। कार्यकर्ता सच-सच बताएंगे कि संगठन में कहां दिक्कत है और विधायक कैसा काम कर रहे हैं? ये एंटी वायरस पार्टी को ‘बैक टू बेसिक’ की ओर लाने के लिए है।
- 26 नवंबर को पार्टी के फाउंडेशन डे पर कुमार विश्वास ने रामलीला मैदान में एलान किया था कि वह हर रविवार को पार्टी ऑफिस में कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनेंगे। इसी के तहत उन्होंने कई राज्यों से आए कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

व्यक्तिगत हमलों पर नहीं बोलूंगा

- विश्वास ने कहा कि पार्टी के उद्देश्यों को लेकर वह बार-बार आवाज उठाते रहे हैं। हालांकि, इससे कुछ नेताओं को एतराज होता है, उन्हें इसकी चिंता नहीं है। वह तो केवल रामलीला मैदान के करोड़ों लोगों के सपने पर ध्यान देंगे। व्यक्तिगत हमले पर कुछ नहीं बोलूंगा।

विवादित वीडियो पर बोले- गुस्से में था

- तीन दिन पहले आए एक विवादित वीडियो मामले में कुमार विश्वास ने माफी मांगी है। विश्वास ने बताया कि 6 महीने पहले एक मुखौटे के जरिए मुझ पर नीच आरोप लगाया गया। इसे लेकर मैं बेहद गुस्से और दुख में था। उस दौरान मेरे 40 साल पुराने एक दोस्त के साले से बात की थी। आवेग में गलत भाषा निकल गई, अब मैं सभ्य ढंग से बोलूंगा।

प्रशांत-योगेंद्र ने स्वराज इंडिया पार्टी बनाई

- अप्रैल, 2015 में आम आदमी पार्टी से बाहर निकाले जाने के बाद योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण ने स्वराज अभियान की शुरुआत की थी। इसके बाद पिछले साल अक्टूबर में राजनीतिक पार्टी 'स्वराज इंडिया' बनाई। योगेंद्र पार्टी और प्रशांत संगठन के प्रेसिडेंट हैं। इसके अलावा अजीत झा पार्टी के जनरल सेक्रेटरी और फहीम खान ट्रेजरर हैं।