देश

--Advertisement--

ट्रिपल तलाक बिल मुस्लिमों के खिलाफ साजिश, कानून से नहीं रुकेंगे महिलाओं के खिलाफ अपराध: ओवैसी

ओवैसी पहले भी ट्रिपल तलाक को बैन करने वाले केंद्र सरकार के बिल का विरोध कर चुके हैं।

Danik Bhaskar

Jan 27, 2018, 05:27 PM IST
एक रैली में ओवैसी ने ये भी कहा कि कानून बनाकर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध नहीं रोके जा सकते।- फाइल एक रैली में ओवैसी ने ये भी कहा कि कानून बनाकर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध नहीं रोके जा सकते।- फाइल

हैदराबाद. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रेसिडेंट और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्रिपल तलाक को बैन करने वाले बिल को मुस्लिमों के खिलाफ साजिश बताया है। ओवैसी ने ये भी कहा कि कानून बनाकर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध नहीं रोके जा सकते। उन्होंने कहा कि क्या दहेज प्रथा को गैरकानूनी करार देने से दहेज के मामले कम हो गए। बता दें कि ओवैसी पहले भी ट्रिपल तलाक को बैन करने वाले केंद्र सरकार के बिल का विरोध कर चुके हैं।


शरिया को बचाने की अपील

- हैदराबाद में शुक्रवार रात एक प्रोग्राम के दौरान ओवैसी ने कहा कि ट्रिपल तलाक बिल के जरिए मुस्लिम पुरुषों को जेल भेजने की साजिश की जा रही है। वास्तव में ये बिल मुस्लिमों के खिलाफ ही साजिश दिखता है।
- ओवैसी ने कहा- क्या ट्रिपल तलाक पर कानून लाने से ये बंद हो जाएगा? AIMIM की तरफ से जारी एक स्टेटमेंट में तहफ्फुज-ए-शरिया (शरिया या इस्लामिक कानून) की अपील की गई।

दहेज प्रथा भी तो नहीं रुकी

- ओवैसी ने कहा- दहेज प्रथा के खिलाफ सख्त कानून बनाया गया। लेकिन, क्या इसके बनने से दहेज के मामले कम हो गए?
- उन्होंने आगे कहा- 2005 से 2015 के बीच दहेज की वजह से देश में 80 हजार महिलाओं की मौत हुई। दहेज की वजह से ही हर रोज 22 महिलाओं की मौत होती है। निर्भया कांड के बाद भी भारत में रेप के मामले तेजी से बढ़े।
- ओवैसी ने कहा- मैं कहना ये चाहता हूं कि कानून से इस तरह के मामलों को खत्म नहीं किया जा सकता।

साजिश है ये बिल

- ओवैसी ने कहा- ट्रिपल तलाक बिल वास्तव में मुस्लिमों के खिलाफ एक साजिश है। यह मुस्लिम महिलाओं को सड़कों पर लाने और पुरुषों को जेल भेजे जाने की नापाक साजिश है।
- ओवैसी ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार ने इस बिल को संसद में लाने के पहले मुस्लिम समाज और धर्मगुरुओं से सलाह-मश्विरा नहीं किया।
- बता दें कि ट्रिपल तलाक बिल को लोकसभा पास कर चुकी है लेकिन राज्यसभा में सरकार के पास बहुमत ना होने की वजह से यह बिल अटका हुआ है।

ओवैसी ने कहा- क्या ट्रिपल तलाक पर कानून लाने से ये बंद हो जाएगा? AIMIM की तरफ से जारी एक स्टेटमेंट में तहफ्फुज-ए-शरिया (शरिया या इस्लामिक कानून) की अपील की गई।  - फाइल ओवैसी ने कहा- क्या ट्रिपल तलाक पर कानून लाने से ये बंद हो जाएगा? AIMIM की तरफ से जारी एक स्टेटमेंट में तहफ्फुज-ए-शरिया (शरिया या इस्लामिक कानून) की अपील की गई। - फाइल
Click to listen..