Hindi News »National »Latest News »National» Amit Shah Modi In Bjp Office After Assembly Election Results

गुजरात-हिमाचल में जीत के बाद बीजेपी हेडक्वार्टर जाएंगे नरेंद्र मोदी

गुजरात में बीजेपी छठी और हिमाचल में तीसरी बार सरकार बनाएगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 18, 2017, 02:23 PM IST

गुजरात-हिमाचल में जीत के बाद बीजेपी हेडक्वार्टर जाएंगे नरेंद्र मोदी, national news in hindi, national news

नई दिल्ली.गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव में जीत पर अमित शाह ने कहा कि ये जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों से मिली है। वंशवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण पर विकासवाद की जीत है। मोदी ने देश की राजनीति से तीन नासूरों को मिटाया। गुजरात में हम छठी बार सरकार बनाएंगे। अब देश के 19 राज्यों में बीजेपी-NDA की सरकार हैं। गुजरात में सीटें घटने के सवाल पर बीजेपी प्रेसिडेंट ने कहा कि कांग्रेस ने प्रचार का स्तर गिराया और जातिवाद की राजनीति की, जबकि मोदी विकास के मुद्दे पर कायम रहे। विपक्ष के घनघोर प्रचार के बाद भी गुजरात में हमारा वोट शेयर 1.25% बढ़ा। बता दें कि गुजरात में बीजेपी को 99 और हिमाचल में 44 सीटें के साथ जीत मिली है।

अमित शाह की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें...

1. ये बीजेपी कार्यकर्ताओं की जीत: शाह

- बीजेपी प्रेसिडेंट ने कहा, ''गुजरात और हिमाचल की जनता को बीजेपी के कार्यकर्ताओं और मेरी तरफ बधाई देना चाहता हूं। उन्होंने हमें मोदी जी की विकास यात्रा में भागीदार बनने का मौका दिया। ये जीत हमारे कार्यकर्ताओं और जनता के विश्वास की जीत है। ये पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंसी की जीत है। वंशवाद और जातिवाद और वोट बैंक के तुष्टिकरण के खिलाफ जीत है।''

- ''देश की राजनीति अब पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंसी की जीत है और अब देश के लोकतंत्र में नया युग आ गया है। इसका पूरा श्रेय राज्य की जनता और कार्यकर्ताओं को जाता है। गुजरात में हम छठी बार सरकार बनाने जा रहे हैं। हमारा वोट प्रतिशत बढ़ा है। इतने घोर जातिवादी प्रचार के बाद भी 1.25 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।''

2. कांग्रेस ने जातिवादी नीति अपनाई

- शाह बोले, ''गुजरात में कांग्रेस ने मुद्दों से भटककर जातिवादी नीति अपनाई। वहां मुद्दों से भटकाया गया। कांग्रेस के सभी प्रमुख नेता वहां हारे हैं। गोहिल और मोढवाडिया जैसे बड़े नेता हारे। कांग्रेस का घोषणा पत्र देखिए। रेवेन्यू से ज्यादा प्रॉमिस किए गए थे।''

- ''प्रचार के दौरान हर बार इसे नीचे ले जाने का प्रयास हुआ। ऐसे शब्दों का प्रयोग हुआ जो आमतौर पर हम इस्तेमाल भी नहीं करते। लेकिन मोदी जी ने विकास की बात की और जनता ने उसे माना।''

3. देश के 19 राज्यों में बीजेपी-NDA की सरकारें

- अमित शाह ने कहा, ''देश में अब बीजेपी की 14 और 5 में सहयोगी दलों (NDA) की सरकारें हैं। हमने विकास को मूलमंत्र बनाया। अर्थ तंत्र बढ़ रहा है। दुनियाभर की रेटिंग एजेंसियां हमें बेहतर रेट कर रही हैं। चार राज्यों में और चुनाव होने हैं। जहां भी हम लड़ेंगे वहां बीजेपी की निश्चित जीत होगी। अब मोदी जी के नेतृत्व में हम इन राज्यो में भी जीत दर्ज करेंगे।''

- ''मोदी जी ने 2022 के लिए जो न्यू इंडिया का लक्ष्य रखा है, उसे हासिल करेंगे। बीजेपी के कार्यकर्ताओं का दिल से शुक्रिया। आशा करता हूं कि देश की जनता मोदी जी की सरकार और नेतृत्व को आशीर्वाद देते रहेंगे।''

4. नरेंद्र मोदी का हिमाचल से गहरा रिश्ता

- अमित शाह ने कहा, ''हिमाचल में भी हम जीते। इस बार हमें 10 फीसदी ज्यादा वोट दिया। मोदी का हिमाचल से गहरा रिश्ता रहा है। हिमाचल भी देश की विकास यात्रा का हिस्सा बनेगा। एनडीए की केंद्र में सरकार बनने के बाद हमने अपना काम बेहतर किया है।''
- ''जनता ने हमारा वोट शेयर को बढ़ाकर ये साबित कर दिया है कि विकास से आगे कुछ नहीं। जिस तरह का प्रचार हुआ वैसा मैंने अपने राजनीतिक जीवन में कभी नहीं देखा। जीत हार के कई कारण होते हैं। विश्लेषण करेंगे।''

5. गुजरात में बीजेपी की सीटें क्यों घटीं?

- शाह ने कहा, ''जनसमर्थन 8 फीसदी बढ़ा है। सीटें कम होने का कारण प्रचार के स्तर का गिरना है। कांग्रेस प्रचार के स्तर को बहुत नीचे ले गई। 8 फीसदी का अंतर कम नहीं होता।''
- ''दो चीजों पर फोकस कर रहा हूं। एक हम जीते और दूसरा हम सरकार बना रहे हैं। वोट प्रतिशत भी बढ़ा और ये बहुत बड़ी कामयाबी है। पाटीदार और जीएसटी के बारे में फैलाई गई गलत बातों का कोई फर्क नहीं पड़ेगा। मैंने 150 सीट कहा था तो कांग्रेस बहुत नीचे स्तर पर चली गई।''

6. कांग्रेस ओछे स्तर के प्रचार की रणनीति बदले

- अमित शाह ने कहा, ''कांग्रेस ने मोदी जी के बारे में बहुत गलते बातें कहीं। हम तो रिसीविंग एंड पर थे। जीएसटी का असर तो सूरत में भी होना था, हम वहां बड़ी जीत हासिल कर सके। मैं कह सकता हूं कि 2019 में भी हम जीतेंगे। जिन्होंने जातिवादी प्रचार किया है उनके लिए ये सबक है। वंशवादी राजनीति भी एक फैक्टर है। जातिवाद तो खत्म होते-होते ही होगा। कांग्रेस को ओछे स्तर की प्रचार की रणनीति में बदलाव करना चाहिए। हमारी सरकार की दिशा सही है। हिमाचल में जातिवादी प्रचार नहीं था। वहां भी हम जीते।''

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×