• Home
  • National
  • amit shah says in agartala bjp formed govt in tripura congress is working with cpm
--Advertisement--

त्रिपुरा में BJP की सरकार बनेगी, पूर्वोत्तर में सबका साथ-सबका विकास के साथ आगे बढ़ रहे: शाह का दावा

अमित शाह ने अगरतला में कहा कि त्रिपुरा में सिंडिकेट हावी है। सीपीएम को जिताने में कांग्रेस की साजिश रही है।

Danik Bhaskar | Feb 12, 2018, 10:37 AM IST
अमित शाह ने कहा कि त्रिपुरा के अफसर सीपीएम के दबाव में काम कर रहे हैं। हिंसा और वामपंथी दलों का हमेशा से साथ रहा है। (फाइल) अमित शाह ने कहा कि त्रिपुरा के अफसर सीपीएम के दबाव में काम कर रहे हैं। हिंसा और वामपंथी दलों का हमेशा से साथ रहा है। (फाइल)

अगरतला. बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने सोमवार को अगरतला में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने दावा किया कि त्रिपुरा की जनता बदलाव के लिए तैयार है। राज्य में अब बीजेपी की सरकार बनेगी। पूर्वोत्तर में हम सबका साथ-सबका विकास के नारे के साथ लगातार आगे बढ़ रहे हैं। त्रिपुरा में 18 फरवरी को चुनाव है। 20 साल से राज्य में सीपीएम की सरकार है।

त्रिपुरा में कांग्रेस की साजिश

- अमित शाह ने कहा, "यहां सिंडिकेट हावी है। सीपीएम को जिताने में कांग्रेस की साजिश रही है। कांग्रेस पार्टी वोट कटवा की भूमिका में है।"
- "हर बूथ, हर पोलिंग स्टेशन पर बीजेपी के कार्यकर्ता रहेंगे। त्रिपुरा की जनता बदलाव का मूड बना चुकी है। हर घऱ को रोजगार देंगे। ट्रांसपोर्ट के लिए लॉजिस्टिक हब बनाएंगे।"
- "त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनेगी। हम दलगत राजनीति से ऊपर उठकर बेहतर लॉ एंड ऑर्डर कायम करेंगे।"
- "त्रिपुरा के गरीबों के लिए भी कई योजनाएं चल रही हैं। राज्य के हालात बद से बदतर हो गए हैं।"

इतने आतंकी कभी नहीं मारे गए

- शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार में जितने आतंकियों को मार गिराया गया, उतना आजादी के बाद कभी नहीं हुआ।
- "हमारे एक बूथ वर्कर को अगवा कर लिया गया। दो दिन तक उसकी कोई जानकारी नहीं मिली। जब हमारे कार्यकर्ताओं ने डीजीपी पर दबाव डाला, तब पता चला कि उसकी हत्या कर पेड़ पर लटका दिया गया। ये सीपीएम के लोगों ने किया। त्रिपुरा के अफसर सीपीएम के दबाव में काम कर रहे हैं। हिंसा और वामपंथी दलों का हमेशा से साथ रहा है।"

भागवत के बयान पर चुप्पी

- भागवत के बयान पर शाह बोले, पता नहीं उन्होंने क्या कहा।
- 11 फरवरी को भागवत ने मुजफ्फरपुर में कहा, "अगर ऐसी स्थिति पैदा हो और संविधान इजाजत दे तो स्वयंसेवक मोर्चे पर जाने को तैयार हैं।"
- "जिस आर्मी को तैयार करने में 6-7 महीने लगते हैं, संघ उन सैनिकों को 3 दिन में तैयार कर देगा।"

शाह ने ये भी कहा कि त्रिपुरा के गरीबों के लिए भी कई योजनाएं चल रही हैं। राज्य के हालात बद से बदतर हो गए हैं। (फाइल) शाह ने ये भी कहा कि त्रिपुरा के गरीबों के लिए भी कई योजनाएं चल रही हैं। राज्य के हालात बद से बदतर हो गए हैं। (फाइल)