• Home
  • National
  • amit shah says in bjp parliamentary meeting rahul gandhi style of politics in undemocretic
--Advertisement--

राहुल का राजनीति करने का तरीका लोकतांत्रिक नहीं, इसी के चलते मोदी की स्पीच में रुकावट डाली गई: शाह

शाह ने ये भी कहा कि राफेल डील को लेकर सरकार प्रमुख चीजें बता चुकी है। हर कॉम्पोनेंट के बारे में चर्चा करना सही नहीं है।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 11:50 AM IST
शाह ने ये भी कहा कि राफेल डील को शाह ने ये भी कहा कि राफेल डील को

नई दिल्ली. बीजेपी पार्लियामेंटरी पार्टी की मीटिंग में शुक्रवार को अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी की राजनीति करने का तरीका लोकतांत्रिक नहीं है। इसी के चलते सदन में पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण में रुकावट डाली गई। ये जानकारी संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने दी। बता दें कि 7 फरवरी को मोदी के राज्यसभा में भाषण के दौरान कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी काफी तेज हंसी थीं। इसके बाद मोदी ने कहा था कि रामायण सीरियल के बाद अब इस हंसी को सुनने का सौभाग्य मिला है।


सरकार राफेल डील के बारे में बता चुकी है

- शाह के हवाले से अनंत कुमार ने कहा, "सरकार राफेल डील के मेन प्वाइंट्स बता चुकी हैं। हम आगे और बताएंगे। लेकिन हर कॉम्पोनेंट को लेकर देशहित में चर्चा करना कितना जरूरी है, इस बात को सोचना होगा।
- गुरुवार को अरुण जेटली ने सदन में बयान दिया, "प्रणब मुखर्जी ने कहा था कि किसी डिफेंस डील के बारे में सदन में चर्चा करना सही नहीं होगा। डील की गोपनीयता को बनाए रखना जरूरी होता है। राहुल गांधी को चाहिए कि वे इस बार में प्रणबजी से कुछ सीखें।"

राहुल ने ट्विटर पर राफेल डील निशाना साधा

- राहुल ने गुरुवार को ट्विटर पर राफेल डील पर सवाल पूछा, "आखिर रक्षा मंत्री को अपना बयान क्यों बदलना पड़ा? उन्होंने कहा था कि मैं नवंबर 2017 में राफेल फाइटर प्लेन की कीमत बताऊंगी। लेकिन 2018 में वे कीमत नहीं बता रहीं। इसकी क्या वजह है?"
- राहुल ने चार ऑप्शन भी दिए- a)करप्शन b)वे मोदी जी को बचाना चाहती हैं c)मोदीजी के दोस्तों को बचाना चाहती हैं d)ये सारे ऑप्शंस
- 7 फरवरी को राहुल ने राफेल डील पर कविता लिखी थी।
बहुत लम्बी थी साहेब की बात
सदन में दिन को बता दिया रात
अपनी नाकामियों पर डाले पर्दे
अफसोस भाषण से गायब थे देश के मुद्दे
प्रधानमंत्रीजी चुप्पी कब तोड़ेंगे
राफेल डील पर आखिर कब बोलेंगे?
- 6 फरवरी को राहुल लिखा ने ट्वीट किया, "ये टॉप सीक्रेट है (बांटने के लिए नहीं)रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि राफेल की कीमत पीएम ने तय की है और उनके भरोसेमंद शख्स को सीक्रेट रखा जा रहा है।
- "संसद को राफेल की कीमत बताना देश की सिक्युरिटी पर खतरा है। जो भी इसके बारे में पूछेगा, उसे एंटी नेशनल माना जाएगा।"