--Advertisement--

स्पेशल पैकेज के लिए संसद में एक हुईं आंध्र की अपोजिशन पार्टियां, सहयोगी TDP ने किया NDA का विरोध

स्पेशल पैकेज की डिमांड को लेकर आंध्र प्रदेश की अपोजिशन पार्टियां तेलगु देशम (TDP) और वाईएसआर कांग्रेस एक हो गईं।

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 10:00 PM IST
लोकसभा में आंध्र को स्पेशल पैकेज दिए जाने की मांग करते टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के मेंबर्स। लोकसभा में आंध्र को स्पेशल पैकेज दिए जाने की मांग करते टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के मेंबर्स।

नई दिल्ली. स्पेशल पैकेज की डिमांड को लेकर आंध्र प्रदेश की अपोजिशन पार्टियां तेलगु देशम (TDP) और वाईएसआर कांग्रेस लोकसभा में एक हो गईं। NDA की सहयोगी TDP ने मंगलवार को सदन में केंद्र सरकार के खिलाफ ही नारेबाजी की। इस विरोध के चलते लोकसभा की कार्यवाही कुछ समय के लिए स्थगित करनी पड़ी। हालांकि, वित्तमंत्री मंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में भरोसा दिलाया आंध्र को फंड दिलाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था बना ली जाएगी।

सदन में किस तरह किया विरोध?

- TDP और YSR कांग्रेस के मेंबर्स ने आंध्र को स्पेशल स्टेटस दिए जाने को लेकर नारेबाजी की। TDP ने कडप्पा स्टील फैक्ट्री, रेलवे जोन के एलान जैसी मांगों वाली तख्तियां ली थीं। इन मेंबर्स ने "वी वांट जस्टिस' और "वादों का क्या हुआ' जैसे नारे भी लगाए। कुछ मेंबर्स मंजीरा साथ लेकर आए थे और कुछ भजन भी गा रहे थे।

अरुण जेटली ने क्या आश्वासन दिया?

- जेटली ने राज्यसभा में कहा, "मुझे लगता है कि आंध्र को फंड दिए जाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था तैयार कर ली जाएगी। मैंने एक्सपेंडीचर सेक्रेटरी को आंध्र के फाइनेंस सेक्रेटरी को कॉल करने को कहा है ताकि फॉर्मेलिटीज शुरू की जा सकें और ऐसा हो सके। अमांउट भी वही रहेगा, जो कहा गया था। मैं आपको आश्वस्त करा देना चाहता हूं कि इसमें कोई मुश्किल नहीं आएगी।"

टीडीपी ने NDA के विरोध में क्या कहा?
- टीडीपी मेंबर नरसिम्हन थोटा ने जेटली के बजट को आंध्र प्रदेश की जनता की बेइज्जती बताया। उन्होंने मांग की कि राज्य बनते समय जो वादे केंद्र ने किए थे, उन्हें जल्द पूरा किया जाए। थोटा बोले- सदन में सरकार को आंध्र के लोगों से किए गए वादे पूरा करने के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखानी चाहिए।

NDA से अलग होने के दिए थे संकेत?
- बजट में आंध्र प्रदेश के लिए कोई बड़ा एलान नहीं किए जाने से टीडीपी नाखुश है। आंध्र के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने बजट के बाद कैबिनेट मंत्रियों के साथ इमरजेंसी मीटिंग की थी।
- टीडीपी सांसदों ने कहा था कि टीडीपी आंध्र प्रदेश के हितों के साथ कोई समझौता नहीं करेगी। जरूरत पड़ी तो इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं। आगे गठबंधन पर फैसला टीडीपी चीफ (नायडू) लेंगे। बता दें कि टीडीपी एनडीए का हिस्सा है। राज्य में भी बीजेपी और टीडीपी साथ हैं।

आंध्र की विपक्षी पार्टियों ने सदन में मिलकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। आंध्र की विपक्षी पार्टियों ने सदन में मिलकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
X
लोकसभा में आंध्र को स्पेशल पैकेज दिए जाने की मांग करते टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के मेंबर्स।लोकसभा में आंध्र को स्पेशल पैकेज दिए जाने की मांग करते टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के मेंबर्स।
आंध्र की विपक्षी पार्टियों ने सदन में मिलकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।आंध्र की विपक्षी पार्टियों ने सदन में मिलकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..