• Home
  • National
  • arun jaitley comment on SBI Report of RBI holding back 2000 rupees note
--Advertisement--

2000 का नोट बंद करने की रिपोर्ट पर जेटली बोले- ऑफिशियल अनाउंसमेंट होने तक यकीन ना करें

2000 रुपए के नोट बंद किए जाने की खबरों पर शुक्रवार को फाइनेंस मििनस्टर अरुण जेटली ने स्थिति साफ कर दी।

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 05:56 PM IST

नई दिल्ली. 2000 रुपए के नोट बंद किए जाने की खबरों पर शुक्रवार को फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ने स्थिति साफ कर दी। जेटली ने कहा, "अंदाजे लगाए जा रहे हैं। ऐसी कई अफवाहें फैलाई जा रही हैं। ऐसी बातों पर ऑफिशियल अनाउंसमेंट होने तक यकीन ना करें। बता दें कि SBI की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया 2 हजार रुपए के नोट सर्कुलेशन से बाहर कर सकता है।

क्या कहा गया था SBI की रिपोर्ट में?

- SBI इकोफ्लैश रिपोर्ट में कहा गया था, "हमारा आकलन है कि मार्च 2017 तक छोटे डिनोमिनेशन करंसी वाले 3,501 अरब रुपए सर्कुलेशन में थे। मार्च 2017 तक छोटे डिनोमिनेशन करंसी वाले 3,501 अरब रुपए सर्कुलेशन में थे। इससे पता चलता है कि छोटे डिनोमिनेशन वाले नोटों को अलग कर दें तो 8 दिसंबर तक हाई डिनोमिनेशन वाले नोटों की वैल्यू 13,324 अरब थी।"

फाइनेंस मिनिस्ट्री ने लोकसभा में क्या रिपोर्ट दी थी?
वित्त मंत्रालय के लोकसभा में दिए गए प्रेजेंटेशन के मुताबिक 8 दिसंबर तक आरबीआई ने 500 रुपए के 1,695.7 करोड़ नोट और 2 हजार रुपए के 365.4 करोड़ नोट प्रिंट किए थे। इन नोटों की कुल वैल्यू 15,787 अरब रुपए होती है।"

SBI ने मार्केट में नोटों की सप्लाई पर क्या कहा था?
- SBI के ग्रुप चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर सौम्य कांति घोष ने रिपोर्ट में कहा, "इसका मतलब है कि हो सकता है आरबीआई ने हाई करंसी नोट्स (15,787 अरब रुपए-13,324 अरब रुपए) के बाकी 2,463 अरब रुपए प्रिंट किए हों, लेकिन मार्केट में उनकी सप्लाई नहीं की गई हो। यह मान लेना ठीक है कि 2,463 अरब रुपए वैल्यू के नोट कम से कम हो सकते हैं, क्योंकि आरबीआई ने छोटे डिनोमिनेशन (यानी 50 और 200 रुपए) के नोट भी प्रिंट किए हैं।"