• Home
  • National
  • Asaduddin Owaisi triple talaq Modi government target Shariat
--Advertisement--

तीन तलाक: महिलाओं को 15 लाख नहीं, 15 हजार ही दे दो मित्रों: ओवैसी का मोदी पर तंज

तीन तलाक: महिलाओं को 15 लाख नहीं, 15 हजार ही दे दो मित्रों: ओवैसी का मोदी पर तंज

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 09:53 AM IST
ओवैसी ने लोकसभा में तीन तलाक बिल का विरोध किया था। हालांकि, उनके सभी सुझाव खारिज हो गए थे। -फाइल ओवैसी ने लोकसभा में तीन तलाक बिल का विरोध किया था। हालांकि, उनके सभी सुझाव खारिज हो गए थे। -फाइल

हैदराबाद. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तीन तलाक के बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। उन्होंने तेलंगाना के वारंगल जिले की एक जनसभा में कहा कि जिन महिलाओं का तीन तलाक हुआ है सरकार उन्हें 15 लाख नहीं तो 15 हजार रुपए महीना ही दे दे। बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी ने कहा था कि स्विस बैंकों में इतनी ब्लैक मनी जमा है कि अगर वह वापस आ जाए तो देश के हर शख्स के खाते में 15-20 लाख रुपए आ सकते हैं।

'असली निशाना तो शरियत है'

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, ओवैसी ने कहा, "(तीन तलाक पर) महिलाओं को इंसाफ दिलाने की बात कहना तो सिर्फ एक बहाना है। इनका असली निशाना शरियत है।"
- उन्होंने कहा, "जिन महिलाओं को तीन तलाक दिया गया है उन्हें हर महीने 15 हजार रुपए का गुजारा देने के लिए बजट में इंतजाम किए जाने चाहिए।"
- उन्‍होंने नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा, "15 लाख नहीं तो 15 हजार ही दे दो मित्रों।"

ओवैसी तीन तलाक बिल के खिलाफ
- बता दें कि तीन तलाक संबंधी बिल संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में पास हो चुका है, लेकिन राज्‍यसभा में पारित नहीं हो सका।
- ओवैसी ने लोकसभा में तीन तलाक बिल का विरोध किया था। हालांकि, उनके सभी सुझाव खारिज हो गए थे।
- सरकार की ओर से पेश किए गए बिल में कहा गया है कि तीन तलाक गैरकानूनी और अपराध माना जाएगा। इसमें विक्टिम को पति से गुजारा भत्ता और बच्चों को रोजमर्रा की जरूरतों के लिए मदद दी जाएगी।

मोदी सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में तीन तलाक पर बिल लाई जो लोकसभा में पास हो गया, लेकिन राज्यसभा में अटक गया। -फाइल मोदी सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में तीन तलाक पर बिल लाई जो लोकसभा में पास हो गया, लेकिन राज्यसभा में अटक गया। -फाइल