--Advertisement--

त्रिपुरा में भी बीजेपी की सरकार बनेगी, काउंटडाउन शुरू हो चुका है: अगरतला में अमित शाह

बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने अगले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर त्रिपुरा में पहली बार दो रैलियां कीं।

Dainik Bhaskar

Jan 07, 2018, 06:37 PM IST
अमित शाह ने विधानसभा चुनाव की अमित शाह ने विधानसभा चुनाव की

अगरतला. बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने रविवार को त्रिपुरा में अगले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पहली बार दो रैलियां कीं। उन्होंने कहा कि मार्च महीने में त्रिपुरा में भी बीजेपी की सरकार बनेगी। अब माणिक सरकार के राज की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। 25 साल में सीपीआईएम ने त्रिपुरा को सिर्फ गरीबी और बेरोजगारी दी। शाह दो दिन नॉर्थ-ईस्ट दौरे पर हैं। इस दौरान राज्य में सीनियर नेताओं के साथ चुनावी रणनीति पर चर्चा की। बता दें कि उनके दौरे से पहले त्रिपुरा के कुछ शहरों में बीजेपी-सीपीआईएम वर्कर्स के बीच झड़प भी हुईं। सोमवार को वह नगालैंड जाएंगे।

भ्रष्टाचारियों को जमीन से खोदकर निकालेंगे

- अमित शाह ने कहा, ''त्रिपुरा में 25 साल से कम्युनिस्ट पार्टी का कुशासन है। त्रिपुरा के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। जब भी जहां भी सीपीआई सत्ता में आई गरीबी और बेरोजगारी बढ़ती गई।''
- ''मैं हैरान हूं कि माणिक सरकार के राज में इतने सालों में कोई भी काम नहीं हुआ। लेकिन अब उनकी सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। मार्च में बीजेपी यहां सरकार बनाएगी और त्रिपुरा की जनता की आशाओं को पूरा करेंगे।''

- ''अगर भ्रष्टाचार में शामिल लोग अंडर ग्राउंड भी हो जाएं तो भी बीजेपी उन्हें जमीन से खोदकर निकाल लेगी।''

राज्य के प्रभारी हेमंत शर्मा से शाह की चर्चा

- अमित शाह त्रिपुरा के चुनाव प्रभारी और असम सरकार के मंत्री डॉ. हेमंत विश्वा शर्मा के साथ चुनावी रणनीति और कैंडिडेट्स के नामों को लेकर चर्चा की। इसमें कई सीनियर नेता भी मौजूद थे।
- बीजेपी प्रेसिडेंट रविवार सुबह अगरतला पहुंचे। इस दौरान पार्टी के सीनियर नेताओं ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। शाह ने धलाई और गोमती जिले में रैली को संबोधित किया।

शाह के दौरे से पहले BJP-CPIM वर्कर भिड़े

- सत्तारूढ़ सीपीआईएम ने अमित शाह के दौरे का विरोध किया। बीजेपी वाइस प्रेसिडेंट सुबल भौमिक का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ता रैली से पहले उदयपुर इलाके में झंडे-बैनर लगा रहे थे। इसी दौरान सीपीआईएम ने लोगों ने इसका विरोध किया और 3 कार्यकर्ताओं को पीट-पीटकर जख्मी कर दिया।
- धलाई जिले में हजारों लोग अमित शाह की रैली में शामिल होना चाहते थे, लेकिन सरकार के दबाव में लोगों को रैली तक लाने के लिए बसें किराए पर नहीं मिलीं। सीपीआईएम के लोगों ने यहां भी माहौल बिगाड़ने की कोशिश की।

शांति भंग करने की कोशिश करेगी BJP: सरकार

- त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने पिछले दिनों कहा था कि बीजेपी IPFT (आदिवासियों के लिए अलग राज्य की मांग करने वाला संगठन) के साथ गठबंधन की कोशिश में है। इसके जरिए राज्य में चुपके से शांति भंग करने की कोशिश की जा सकती है।
- हम सांप्रदायिकता फैलाने वाली इस साजिश को रोकेंगे, क्योंकि शांति से ही विकास के रास्ते खुलते हैं। सीपीआईएम त्रिपुरा में दोबारा सरकार बनाने के लिए अपने उसूलों पर कायम रहेगी।

X
अमित शाह ने विधानसभा चुनाव की अमित शाह ने विधानसभा चुनाव की
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..