देश

  • Home
  • National
  • cbse paper leak Two teachers and a coaching centre owner arrested news and update
--Advertisement--

पेपर लीक: एसआईटी ने दिल्ली से 3 गिरफ्तार, 2 टीचर और एक कोचिंग मालिक शामिल

इससे पहले एसआईटी ने शनिवार रात करीब 9.30 बजे सीबीएसई के प्रीत विहार स्थित मुख्यालय पर छापा मारा था।

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 09:28 AM IST
एसआईटी ने रविवार को 2 टीचरों और एसआईटी ने रविवार को 2 टीचरों और

  • सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के पेपर लीक होने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है।
  • 12वीं इकोनॉमिक्स की दोबारा परीक्षा लेने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में 3 याचिकाएं दायर की गई है।

नई दिल्ली. सीबीएसई का 12वीं इकोनॉमिक्स का पेपर लीक होने के मामले में रविवार को बोर्ड के अफसर केएस राणा को सस्पेंड किया। एचआरडी मिनिस्ट्री के सचिव अनिल स्वरूप ने बताया कि यह कार्रवाई एग्जाम सेंटर के सुपरविजन में लापरवाही बरतने पर की गई। वहीं, दिल्ली पुलिस की एसआईटी ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया। इनमें 2 टीचर और एक कोचिंग संचालक शामिल हैं। कोर्ट ने इन्हें 2 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा है। पुलिस के मुताबिक, दोनों आरोपी टीचरों ने परीक्षा शुरू होने से सवा घंटे पहले एग्जाम सेंटर से ही पेपर की फोटो खींचकर वॉट्सऐप पर कोचिंग संचालक को भेजी थी।

दिल्ली के बवाना सेंटर का इंचार्ज था राणा

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केएस राणा दिल्ली के बवाना में बनाए गए सीबीएसई एग्जाम सेंटर का इंचार्ज था। बोर्ड की जांच में उसकी लापरवाही उजागर हुई।

- सचिव अनिल स्वरूप ने बताया कि राणा के खिलाफ एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर के आदेश पर कार्रवाई की गई।

कोचिंग संचालक पर पेपर स्टूडेंट्स को भेजने का आरोप

- पुलिस के मुताबिक, वॉट्सऐप पर पेपर मिलने के बाद आरोपी कोचिंग संचालक ने इसे स्टूडेंट्स के पास भेजा था।

- हालांकि, सोशल मीडिया पर हाथ से लिखा पेपर भी लीक हुआ था। इस पर पुलिस का कहना है कि वह इस बात की जांच कर रही है।

सीबीएसई चेयरपर्सन को पेपर मेल करने वाला हिरासत में

- सीबीएसई चेयरपर्सन को लीक पेपर ईमेल पर भेजने वाला व्हिसलब्लोअर पंजाब से हिरासत में ले लिया गया है। पूछताछ हो रही है कि उसे पेपर कहां से मिला था।

- बताया जा रहा है कि उसने चेयरपर्सन को ईमेल भेजकर पेपर लीक होने की जानकारी दी थी। एसआईटी ने इस शख्स की जानकारी गूगल से मांगी थी।

शनिवार को क्या कार्रवाई हुई?

- एसआईटी ने रात करीब 9.30 बजे सीबीएसई के प्रीत विहार स्थित मुख्यालय पर छापा मारा था। यहां से कई अहम दस्तावेज बरामद किए गए।

- पुलिस टीम को दिल्ली के बाहरी इलाकों के कई स्कूलों, परीक्षा केंद्रों और छात्रों के घर पहुंचीं।
- एसआईटी ने एक प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल और सीबीएसई के कर्मचारी समेत 3 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उनके खुलासों के आधार पर देर रात छापा मारा गया। सीबीएसई के कई कर्मचारियों को देर रात एजुकेशन बोर्ड के हेडऑफिस में बुलाकर पूछताछ की गई।

लीक से जुड़ा डेटा मिला
- दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार के मुताबिक, छापे के दौरान पेपर लीक से जुड़ा अहम डेटा जुटाया गया। हालांकि, उन्होंने इसकी डिटेल नहीं दी। सूत्रों का दावा है कि पुलिस पेपर लीक की अहम कड़ियां जोड़ चुकी है। जल्द ही बड़ा खुलासा हो सकता है।
- क्राइम ब्रांच की तीन टीमें 60 संदिग्धों से पूछताछ कर चुकी हैं। इनमें कोचिंग संस्थानों के 7 ट्यूटर और 53 छात्र भी शामिल हैं। 50 से ज्यादा मोबाइल जब्त किए गए।

झारखंड से 12 गिरफ्तार

- झारखंड पुलिस चतरा जिले में दो कोचिंग संचालक समेत 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। एक कोचिंग संचालक एबीवीपी का जिला संयोजक है।

वाॅट्सएेप से मांगी जानकारी
- एसआईटी ने वाॅट्सएेप को नोटिस भेजकर पूछा है कि पेपर सबसे पहले किस ग्रुप पर आया था।
- इस मामले में दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कई शहरों में छापे मारे जा रहे हैं।

दो और पेपर लीक का दावा, सीबीएसई का इनकार
- सोशल मीडिया पर दो और पेपर लीक होने की बात कही जा रही है। इनमें 2 अप्रैल को होने वाला 12वीं का हिंदी (इलेक्टिव) और 6 अप्रैल को होने वाला पॉलिटिकल साइंस का पेपर शामिल है। हालांकि, सीबीएसई का दावा है कि इन दोनों विषयों के सर्कुलेट हो रहे पेपर पिछले साल के हैं।

- सीबीएसई ने छात्रों से अपील की है कि वह सोशल मीडिया पर चल रही सूचनाओं पर ध्यान न दें।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला
- सीबीएसई पेपर लीक का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। दो विषयों की दोबारा परीक्षा कराए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में 3 याचिकाएं दायर की गई हैं।

वॉट्सऐप से सर्कुलेट हुआ था पेपर

सीबीएसई के दो पेपर- 12वीं का इकोनॉमिक्स और 10वीं का मैथ्स का पेपर लीक होने की बाद सीबीएसई मान चुका है। इकोनॉमिक्स का पेपर 26 मार्च को और मैथ्स का 28 मार्च को हुआ था। 10वीं का मैथ्स का पेपर परीक्षा से एक दिन पहले ही सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो गया था।

- वहीं, बारहवीं का पेपर किस दिन लीक हुआ यह साफ नहीं है। हालांकि, पुलिस की जांच में परीक्षा वाले ही दिन सवा घंटे पहले इसे एग्जाम सेंटर से भेजने की बात सामने आ रही है।

- सीबीएसई ने दोनों पेपर रद्द कर दिए हैं। 12वीं इकोनॉमिक्स की परीक्षा 25 अप्रैल को दोबारा होगी। हालांकि, 10वीं मैथ्स की परीक्षा की तारीख का एलान अभी बाकी है।

ये भी पढ़ें...

सीबीएसई पेपर लीक मामला: 7 स्टेप में छात्रों तक पहुंचता है प्रश्न पत्र, 4 कड़ियां कमजोर

Click to listen..